Wednesday, November 24, 2021

मुख्यमंत्री ने पूरे प्रदेश में हांडिया दारु बांटते हुए अब मंडला में आकर पूरा उड़ेल दिए है-देवेन्द्र मरावी

मुख्यमंत्री ने पूरे प्रदेश में हांडिया दारु बांटते हुए अब मंडला में आकर पूरा उड़ेल दिए है-देवेन्द्र मरावी 

आदिवासी समाज व युवाओं को भविष्य बनाने के लिये किताबों और अच्छी शिक्षा प्रदान करने की आवश्यकता है

मध्य प्रदेश की सरकार गांव-गांव भट्टी खोलों की मुहिम चलाने की बात कर रही है


मंडला। गोंडवाना समय। 

कांग्रेस सरकार ने तो सिर्फ आपको पांच से 45 लीटर के ही छूट दे रखा था। अब भारतीय जनता पार्टी भी आपके गौरव को बनाए रखने के लिए, पूरे प्रदेश में हांडिया दारु बांटते हुए अब मंडला में आकर पूरा उड़ेल दिए है।


गोंगपा के संभागीय पदाधिकारी देवेन्द्र मरावी ने मुख्यमंत्री द्वारा शराब की विक्रय की छूट आदिवासियों को दिये जाने की घोषणा पर गलत व आदिवासी समाज विरोधी निर्णय लिये जाने का आरोप लगाते हुये कहा कि समाज को बचाना है तो हमें नशापान को रोकना पड़ेगा। आज आदिवासी समाज के साथ साथ युवाओं गांव हो या शहर हो या फिर युनिवर्सिटी, कालेज, अन्य जगहों पर आदिवासी युवाओं को भविष्य बनाने के लिये किताबों और अच्छी शिक्षा प्रदान करने की आवश्यकता है। 

जबकि दादा हीरा सिंह मरकाम जी कहते थे, महिला जागो, भट्टी तोड़ो, गोंडवाना बैंक खोलो


आज आदिवासी समाज को हांडिया दारु की आवश्यकता है लेकिन मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान सहित हमारे आदिवासी समाज के विधायक, सांसद और जन-प्रतिनिधि, दारू शराब को खत्म करने के बजाय इसको परम्परा बताकर परोस रहे है। ये लोग हमारी भाषा, संस्कृति, परंपरा सब खत्म करना चाहते है और आपके छाती में बैठकर सत्ता में बने रहना चाहते है। हमें समाज को बचाने के लिए नशापान को रोकना पड़ेगा नहीं तो आप बचने वाले नही है। गोंगपा के संभागीय पदाधिकारी देवेन्द्र मरावी ने कहा कि गोंडवाना समग्र क्रांति विकास आंदोलन के प्रेरणा दादा हीरा सिंह मरकाम जी कहते थे, महिला जागो, भट्टी तोड़ो, गोंडवाना बैंक खोलो। वहीं दूसरी ओर मध्य प्रदेश की सरकार गांव-गांव भट्टी खोलों की मुहिम चलाने की बात कर रही है। इससे आदिवासी समाज का विकास नहीं होगा। 

गोंडवाना के मूल आस्तित्व की पहचान वाली जगह को दफन करना चाहते है

वहीं आगे गोंगपा पदाधिकारी देवेन्द्र मरावी ने कहा कि गोंडवाना की प्राचीन राजधानी अमर शहीद राजा शंकर शाह, रघुनाथ शाह जन्मस्थली राजराजेश्वरी किला परिसर गढ़ा मंडला मप्र में जिन महलो को कांग्रेस सरकार ने 1956 में मशीनों से धराशाई कराया था। आज उन्ही खण्हर पड़े हुये महलों के नींव के ऊपर भाजपा सरकार मूर्ति खड़ा करके गार्डन बनाना चाहती है और हमेशा के लिए गोंडवाना के मूल आस्तित्व की पहचान वाली जगह को दफन करना चाहते है। गोंडवाना हमारी आन, बान, शान है, उस पुरानी नींव पर भविष्य में हमारा समाज मिलकर भविष्य में अपनी आस्था के साथ विशाल गोंडवाना महल खड़ा करेंगे ताकि देश के तमाम आदिवासी शहीद जवान और गोंडवाना के राजा महाराजा  वीरांगनाओं को सच्ची श्रद्धांजलि मिल सके। 


No comments:

Post a Comment

Translate