Sunday, January 16, 2022

आजादी के सात दशक बीतने के बाबजूद साईकिल तक ले जाने का रास्ता नहीं

आजादी के सात दशक बीतने के बाबजूद साईकिल तक ले जाने का रास्ता नहीं 

सरकार के विकास के दावों की पोल खोल रही तस्वीर 


नारायणगंज/मंडला। गोंडवाना समय।

आदिवासी बाहुल्य जिला मण्डला के नारायणगंज विकास खण्ड से लगभग 30 किलोमीटर दूर ग्राम पंचायत पिंडरई माल से 3, 4 किलो मीटर बर्रा टोला रैयत माल तक साईकिल ले जाने तक नहीं बना है। 

प्रतिदिन आवागमन करते है ग्रामीणजन 


गांव वालो का कहना हैं ये जो सड़क है वह हमारे प्रतिदिन आवागमन का रास्ता है, यहां से हम शाम सुबह आते-जाते है। वहीं सड़क निर्माण कार्य के लिए हमने पंचायत से लेकर जनपद और जिला तक अपनी बात आवेदन के माध्यम रखा है लेकिन अभी तक कोई भी सुनवाई नहीं हो पाई हैं।

इसी बीच जयस ब्लॉक अध्यक्ष झामसिंह तेकाम ने बताया कि जो सड़क है इससे लोग रोज पिंडरई माल में जाते हैं क्योंकि उचित मूल्य की दुकान राशन या फिर किसी अन्य वस्तु खरीदने के लिए भी जाना पड़ता हैं एवं बच्चे पढ़ने के लिए भी इसी रास्ते से जाते हैं। 

जनप्रतिनिधि व शासन प्रशासन कोई नहीं दे रहे ध्यान 


वहीं बरसात के समय में बच्चे बाढ़ आ जाने के कारण 10 से 15 दिन तक स्कूल नहीं जा पाते है। ग्रामीण का कहना हैं कि पूर्व प्रतिनिधि विधायक से लेकर वर्तमान प्रतिनिधि विधायक को भी आवेदन पत्र दिया गया है। इसके बावजूद भी जनप्रतिनिधि और शासन प्रशासन ध्यान नहीं दे रहे है इनकी अनदेखी से ग्रामीणजन विकास की मुख्य धारा से दूर होकर परेशान हो रहे है। 

No comments:

Post a Comment

Translate