Tuesday, February 22, 2022

25 हजार रूपये रिश्वत लेने वाली लेखापाल ने खोली भ्रष्ट जनजाति कार्यालय छिंदवाड़ा की पोल

 25 हजार रूपये रिश्वत लेने वाली लेखापाल ने खोली भ्रष्ट जनजाति कार्यालय छिंदवाड़ा की पोल  


छिंदवाड़ा। गोंडवाना समय।

छिंदवाड़ा। गोंडवाना समय। जनजातिय कार्यालय छिंदवाड़ा में चल रहे खुलेआम भ्रष्टाचार और रिश्वत को शिष्टाचार बनाने के खेल की पोल आदिवासी बाल आश्रम में पदस्थ चपरासी के पद पर कार्यरत की जन्म तिथि में सुधार के 80 हजार रूपये रिश्वत मांगने के बाद 25 हजार रूपये की रिश्वत रंगे हाथो लेते हुये महिला कर्मचारी के पकड़े जाने के बाद खुले गई है। विभाग के अधिकारी भले ही सफाई देते रहे लेकिन विभागीय कर्मचारी की रिश्वत लेते हुये पकड़े जाने के खेल से विभाग की पोल का भी खुलासा हुआ है। 

सेवा पुस्तिका में वास्तविक जन्मतिथि सुधार करने के एवज में 80 हजार रूपये की मांगी थी

नीलेश सूर्यवंशी  पिता गंगाराम सूर्यवंशी उम्र 32 वर्ष निवासी लहंगडुआ तहसील अमरवाड़ा जिला छिंदवाड़ा की शिकायत पर आरोपी श्रीमती संगीता झाड़े जो कि लेखापाल के पद पर सहायक आयुक्त जनजातीय कार्यालय कलेक्ट्रेट जिला छिंदवाड़ा में पदस्थ थी। इसके द्वारा गंगाराम सूर्यवंशी जो कि आदिवासी बालक छात्रावास सोनपुर में चपरासी के पद पर पदस्थ है। प्रार्थी के पिता की सेवा पुस्तिका में वास्तविक जन्मतिथि सुधार करने के एवज में 80 हजार रूपये की मांगी थी। जिसमें से 25 हजार रूपये रिश्वत लेते हुये 22 फरवरी 2022 को रंगे हाथो पकड़ी गई। वहीं ट्रैप दल सदस्यों में दल प्रभारी निरीक्षक स्वप्निल दास, निरी , मंजू किरण तिर्की, निरी भूपेंद्र  दीवान, आरक्षक जुवेद खान, अतुल श्रीवास्तव, विजय बिष्ट, लक्ष्मी रजक, सुरेंद्र राजपूत शामिल रहे। 

No comments:

Post a Comment

Translate