Monday, April 18, 2022

पेसा कानून को छत्तीसगढ़ में लागू करने हेतु सरकार दृढ़ संकल्पित है: भूपेश बघेल

पेसा कानून को छत्तीसगढ़ में लागू करने हेतु सरकार दृढ़ संकल्पित है: भूपेश बघेल

गोंडवाना भवन हेतु मुख्यमंत्री द्वारा एक करोड़ सात लाख सात हजार दिए जाने की घोषणा किये

मुख्यमंत्री ने वनोपज का वाजिब कीमत दिलाकर आदिवासियों का मान-सम्मान बढ़ाया है

हम सबको छोटे-छोटे मतभेदों को भुलाकर आपस में एकजुटता का परिचय देना होगा


दुर्गाप्रसाद ठाकुर, प्रदेश संवाददाता।
रायपुर/छत्तीसगढ़। गोंडवाना समय।

अखिल भारतीय गोंड़ अमात समाज केंद्रीय समिति बिंद्रानवागढ़ का दो दिवसीय महाधिवेशन मुख्य अतिथि तिरु. श्री भूपेश बघेल मुख्यमंत्री छत्तीसगढ़ शासन, अध्यक्षता तिरु.श्री शिशुपाल शोरी अध्यक्ष अखिल भारतीय गोंडवाना गोंड महासभा व विधायक संसदीय सचिव छत्तीसगढ़ शासन, अति विशिष्ट अतिथि तिरु. कुमार ओंकार शाह अध्यक्ष अखिल भारतीय अमात गोंड़ महासभा केंद्रीय समिति बिंद्रानवागढ़, तिरु.डॉ.  प्रेमसाय सिंह टेकाम मंत्री आदिम जाति कल्याण विभाग, सहकारिता एवं स्कूल शिक्षा विभाग छत्तीसगढ़ शासन, अमितेश शुक्ला विधायक राजिम, तिरु. इंद्रशाह मंडावी विधायक, संसदीय सचिव बाढ़, आपदा प्रबंधन छत्तीसगढ़ शासन,तिरु. अनूप नाग विधायक अंतागढ़ सदस्य मुख्यमंत्री अधोसंरचना विकास निगम छत्तीसगढ़ शासन, तिरु.हेम सिंह नेगी संरक्षक अखिल भारतीय अमात गोंड समाज, तिरू. लोकेंद्र सिंह कोमर्रा राष्ट्रीय महासचिव अखिल भारतीय गोंडवाना गोंड महासभा, तिरु. आर.एन. ध्रुव प्रांताध्यक्ष अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ छत्तीसगढ़, तिरु.महेश्वर सिंह कोमर्रा सलाहकार, तिरु. अवध राम मरकाम सलाहकार, तिरु.दयाराम नागेश सलाहकार, तिरु. खेदूराम नेगी उपाध्यक्ष, तिरु.जबर सिंह नागेश उपाध्यक्ष, तिरु. संतन सिंह नेताम उपाध्यक्ष, तिरु. लोकेश्वरी नेताम अध्यक्ष महिला प्रभाग व सभापति जिला पंचायत गरियाबंद, तिरु. पुनारद राम ठाकुर सरपंच  बोडराबांधा के आतिथ्य में फिंगेश्वर राज विकासखंड छूरा जिला-गरियाबंद में संपन्न हुआ।

सरकार छत्तीसगढ़ में 32% आदिवासियों के हितों के लिए कार्य कर रही है


इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री भूपेश बघेल ने कहा कि सरकार छत्तीसगढ़ में 32% आदिवासियों के हितों के लिए कार्य कर रही है। छत्तीसगढ़ में पेसा कानून को लागू करने हेतु सरकार दृढ़ संकल्पित है। मुख्यमंत्री द्वारा गरियाबंद जिला मुख्यालय में कचना धुर्वा के नाम पर गोंडवाना भवन बनाने हेतु एक करोड़ सात लाख साथ हजार अनुदान दिए जाने की घोषणा किये है। इसके साथ ही समाज के मांग पत्र में रखे गए सभी मांगों को पूर्ण करने की बात कही। स्थानीय विधायक अमितेश शुक्ला द्वारा मुख्यमंत्री का विधानसभा क्षेत्र में आगमन पर आभार व्यक्त करते हुए गोंड समाज भवन के लिए दस लाख रुपए दिए जाने की घोषणा किये। इस अवसर पर अंतागढ़ के विधायक अनूप नाग ने कहा कि सरकार आदिवासी हितों के लिए अच्छा कार्य कर रही है।

17 आदिवासी युवाओं को इंडोनेशिया भेजने की व्यवस्था की 


उन्होंने बताया कि मुख्यमंत्री द्वारा बस्तर के 17 आदिवासी युवाओं को इंडोनेशिया में निवासरत आदिवासियों के संस्कृति के अध्ययन हेतु हवाई टिकट, रहने, खाने आदि की पूरी व्यवस्था के साथ भेजने का निर्णय लिए हैं। स्वागत उद्बोधन प्रस्तुत करते हुए महासभा के अध्यक्ष ओंकार शाह ने कहा कि श्री भूपेश बघेल बहुत ही सहज-सरल और आदिवासियों के हितों की रक्षा हेतु संवेदनशील हैं। छत्तीसगढ़ी में अभिनंदन पत्र का वाचन करते हुए अखिल भारतीय गोंडवाना गोंड महासभा के महासचिव लोकेंद्र सिंह ने कहा कि मुख्यमंत्री ने वनोपज का वाजिब कीमत दिलाकर आदिवासियों का मान-सम्मान बढ़ाया है।

समाज को रोटी बेटी के लेन-देन हेतु क्षेत्रवाद को छोड़कर पहल करना होगा


उड़ीसा के प्रदेश अध्यक्ष महेंद्र नायक ने कहा कि समय के साथ समाज को रोटी बेटी के लेन-देन हेतु क्षेत्रवाद को छोड़कर पहल करना होगा। प्रदेश अध्यक्ष छत्तीसगढ़ नीलकंठ टेकाम ने गोंडी भाषा और संस्कृति की रक्षा हेतु पूरे छत्तीसगढ़ में महासभा द्वारा चलाए जा रहे अभियान की जानकारी दिए। महिला प्रभाग के राष्ट्रीय महासचिव कांति नाग ने कहा कि आज के कार्यक्रम में महिलाओं की भागीदारी पुरुषों से अधिक है। इसलिए समाज तय करें कि  सामाजिक न्याय व्यवस्था में भी महिलाओं की भागीदारी बराबर का हो जिससे न्याय प्रणाली में और पारदर्शिता आए। अनुसूचित जनजाति शासकीय सेवक विकास संघ के प्रदेश अध्यक्ष व राष्ट्रीय सचिव आर एन ध्रुव ने कहा कि लोकतांत्रिक व्यवस्था में जो समाज संगठित है उनकी आवाज को दुनिया की कोई ताकत नजरअंदाज नहीं कर सकती। इसलिए हम सबको छोटे-छोटे मतभेदों को भुलाकर आपस में एकजुटता का परिचय देना होगा।

समाज सेवा के लिए सम्मानित किया गया

इस अवसर पर समाज द्वारा मुख्यमंत्री एवं अतिथियों को वनों से प्राप्त होने वाले मौसमी फल तेंदू ,चार-चिरौंजी, कोदो चावल का खीर, महुआ के लड्डू, मडिया पकवान परोस कर अतिथियों का दिल जीत लिया। समाज के सबसे वरिष्ठ महेश्वर कोमर्रा जी,अलाल सिंह नागेश,प्रतिभा सम्मान दीपक कुमार मरकाम, रूपसिंह नागेश, अमलेश नागेश,ओंकार ओटो को मुख्यमंत्री द्वारा साल, श्रीफल एवं स्मृति चिन्ह भेंट कर उनके द्वारा किए गए समाज सेवा के लिए सम्मानित किया गया। इस अवसर पर पन्द्रह हजार से अधिक गोंड समाज के लोग भारी गर्मी के बावजूद भरी दोपहरी कार्यक्रम में उपस्थित थे।दो दिन के आयोजन में गोंड़ी धर्म ,संस्कृति, रीति रिवाज, शिक्षा, स्वास्थ्य, सांस्कृतिक, संवैधानिक मुद्दों पर वृहद चर्चा हुई।


No comments:

Post a Comment

Translate