Friday, May 27, 2022

लाखों रूपये के तालाब निर्माण में उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक शिवराज सरकार की मंशा को कर रहे मटियामेट

लाखों रूपये के तालाब निर्माण में उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक शिवराज सरकार की मंशा को कर रहे मटियामेट

ग्रामीण यांत्रिकी विभाग के उपयंत्री की तालाब निर्माण में मनमानी, अमानक तरीके से हो रहा निर्माण कार्य


घंसौर। गोंडवाना समय। 

मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान भले ही एक्सन मूड में आकर प्रतिदिन सुबह 6.30 बजे से प्रदेश के अफसरों को सुशासन का पाठ पढ़ा रहे है। निर्माण कार्यों भ्रष्टाचार नहीं होना चाहिये यह जनता का पेसा है ईमानदारी से काम होना चाहिये।
                


इसके साथ ही जलसंरक्षण के लिये विशेष दिशा निर्देश देते हुये ऐसे निर्माण कार्यों से जनता को जागरूक करने के साथ जनता को जोड़ने की बात भी मुख्यमंत्री जी कह रहे है लेकिन भ्रष्टाचार की आदत लगी कुछ अफसरों को मुख्यमंत्री के दिशा निर्देश असरकारी नहीं लग रहे है।

विशेषकर सिवनी जिले के आदिवासी ब्लॉक घंसौर में तो निर्माण कार्यों में आर्थिक अनियमतिता का खुला खेल खेला जा रहा है। जलसंरक्षण के नाम पर किये जाने वाले निर्माण कार्य में भ्रष्टाचार को अंजाम देने वाले ग्रामीण यांत्रिकी विभाग के उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक को शिवराज सरकार में रोकने वाले कोई नहीं है। वैसे भी दो बार स्थानांतरित हो चुके उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक नौकरी कम नेतागिरी की धौंस ज्यादा दिखाकर ठेकेदारी करने में दिलचस्पी दिखाते है। 

2 करोड़ से अधिक के निर्माण कार्य में हो आर्थिक अनियमितता का खेल


सिवनी जिले के आदिवासी बाहुल्य क्षेत्र जनपद पंचायत घंसौर की ग्राम पंचायत रमपुरी में मनरेगा योजना अंतर्गत निर्माण कार्यों की स्वीकृति लगभग करोड़ों के निर्माण कार्य कराया जा रहा है। जिसमें ग्रामीण यांत्रिक विभाग के उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक के द्वारा निर्माण कार्यों में खुलेआम आर्थिक अनियमितता कर भ्रष्टाचार अंजाम दिया जा रहा है। लागत लगभग 2 करोड़ से अधिक के तालाब निर्माण कार्यों में उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक द्वारा तकनीकि मापदण्डों को दरनिकार करते हुये निर्माण कार्यों को अंजाम दिया जा रहा है। 

उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक के विरोध में खरी-खोटी सुनाई


सूत्र बताते है कि ग्रामीण यांत्रिकी विभाग के उपयंत्री कृष्ण कुमार खटीक को मध्य प्रदेश भोपाल से चीफ इंजीनियर साहब जब आए थे उन्होंने फटकार लगाकर नाराजगी भी व्यक्त किया गया। ग्राम कूड़ो बुधवारा के तालाब निर्माण कार्य में नाराजगी व्यक्त किया गया और उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक को फटकार लगाई गई। 84 लाख के निस्तारित तालाब को सरकुलेशन टैंक बनाया जा रहा है जिसमें घोर अनियमितताएं पाई गई और तालाब निर्माण कार्य को छोटा कर दिया गया है जिसमें ग्राम के लोगों ने भी नाराजगी व्यक्त की और उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक के विरोध में खरी-खोटी सुनाई। 

चीफ इंजीनियर ने उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक की लगाई थी क्लास


लाखों के तालाब निर्माण कार्यों में ग्राम के लोगों का नहीं हो पाएगा निस्तार इस बात को लेकर चीफ इंजीनियर साहब के सामने ग्राम के लोगों ने कहा था कि सिर्फ बारिश का पानी ही रुक पायेगा। वहीं 3 माह ही मिल सकता है, पानी नहीं थम पाएगा गांव का निस्तार नहीं हो पाएगा। ऐसी स्थिति में मवेशी एवं गांव के लोगों को पानी की सुविधाएं नहीं मिलेगी जिससे 84 लाख की लागत से बनाये गये तालाब को सरकुलेशन टेंक की तरह बनाया गया है इसलिए पानी का रुकाव नहीं हो पाएगा। चीफ इंजीनियर ने उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक को फटकार लगाते हुये क्लास लगाई गई थी ओर कहा गया था कि तत्काल मुझे रिपोर्ट तलब करें। 

निस्तार तालाब में नहीं मिला पानी तो चीफ इंजीनियर साहब हुए थे नाराज

इसी तरह ग्राम रामपुरी 74 लाख के  निस्तारित तालाब का किया गया। निर्माण कार्य में चीफ इंजीनियर साहब ने नाराजगी व्यक्त की और खटीक को फिर कहा आपके द्वारा कराए जा रहे कार्य भ्रष्टाचार से संलिप्त है क्यों न आपके विरूद्ध कार्यवाही की जाए। वहीं निस्तार तालाब में नहीं मिला पानी तो चीफ इंजीनियर साहब नाराज हुए थे। बेस्ट बियार के काम को पक्का निर्माण किया जाना था, जिसे पत्थरो में बाल बनाया जा रहा है जिसमें चीफ इंजीनियर साहब ने फटकार लगाते हुये कहा था तत्काल इसे पक्का निर्माण कार्य कराया जाए, जिससे दुर्घटनाएं ना हो सके। बोल्डर के बाल से दुर्घटनाएं की सौ पर्सेंट होने की संभावना है। इससे आम जनों को भी आ सुविधाएं होंगी। 

फर्जी बिल लगाकर ठेकेदार का लाभ पहुंचा रहे उपयंत्री कृष्णचंद खटीक

निस्तारित तालाब रमपुरी के निर्माण कार्य में उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक के द्वारा ठेकेदार को लाभ पहुंचाया जा रहा है। उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक के द्वारा नहीं ली गई ग्राम पंचायत के प्रधान की अनुमति और कर दिया फर्जी बिलों का भुगतान फर्जी बिल लगाकर अपने चहेते ठेकेदारों को बिलों के माध्यम से लाभ पहुंचाया जाता है। उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक के द्वारा मनपसंद ठेकेदार को लाभ पहुंचाया जा रहा है। निस्तारी तालाब रमपुरी का निर्माण कार्य ग्राम पंचायत के बिना अनुमति बनाया गया है। बेंडर नहीं पूछा गया ग्राम पंचायत प्रधान से और बना दिया गया मनपसंद वेंडर। आज  दिनांक तक बिलो की नहीं आई नस्ती ग्राम पंचायत प्रधान के द्वारा उपयंत्री कृष्ण चंद खटीक  से संपर्क कर बिलों की नसती मांगे तो कहा गया जिला पंचायत में है। ग्राम पंचायत को सामाजिक अंकेक्षण आॅडिट में बिलों को ना दिखाने में ग्राम पंचायत को लापरवाह बताया गया है। 

No comments:

Post a Comment

Translate