Monday, January 16, 2023

सभी संगठनों को एक झंडे के नींचे आकर दादा मरकाम जी के आंदोलन को मजबूत बनाने में सभी लोगों को आगे आना होगा

सभी संगठनों को एक झंडे के नींचे आकर दादा मरकाम जी के आंदोलन को मजबूत बनाने में सभी लोगों को आगे आना होगा

समाज की जागृति में मोतीरावण कंगाली जी, हीरा सिंह मरकाम जी, सुन्हेर सिंह ताराम जी का है उल्लेखनीय योगदान

सांस्कृतिक कार्यक्रम में सावरझोडी, मोहगांव, ठेमा के बच्चों ने शानदार प्रस्तुति दी

लक्ष्मी धुर्वे ने गीत गाकर रनबन रनबन समाज को एक जगह लाने आह्वान किया


परसवाड़ा/बालाघाट। गोंडवाना समय। 

गौरतलब है कि बालाघाट जिले के अंतर्गत विकास खंड परसवाड़ा ग्राम पंचायत मोहगांव ग्राम सावरझोडी, अहमदपुर के तत्वावधान में 2 वर्षों से पेनजीवा दादा हीरा सिंह मरकाम जी गोल्ड मेडलिस्ट एल एल बी शिक्षक व प्रोफेसर की जन्मजयंती यादगार के रूप में बड़े धूमधाम के साथ मानाया जा रहा है।
                


इसके साथ ही दादा मोतीरावेन कंगाली जी. सुन्हेर सिंह ताराम जी जिन्होंने रात दिन कड़ी मेहनत कर पूरे विश्व में घूम घूम कर गोंडवाना की धरोहर को शोध कर गोंडवाना के स्वर्णिम इतिहास को अपने कलम से लिखकर साहित्य के रूप में प्रस्तुत कर पूरे विश्व में जोत जलाने का काम किया है। ऐसे महान बुद्धिजीवी व्यक्ति शोधकर्ताओ के छाया चित्र में हल्दी चावल का टीका लगाकर परसवाड़ा के सभी क्षेत्र वासियों ने नारा लगाकर उनके अधूरे सपनों को साकार करने का संकल्प लिया। 

प्रत्येक मातृशक्तियों को रानीदुर्गावती जैसे बनने की जरूरत है ताकि शोषण अन्याय के खिलाफ लड़ सके


इसके साथ ही सैकड़ों की तादाद में मातृशक्ति, पितृशक्ति, युवा शक्तियो ने बारी बारी से अपना संदेश वक्तव्यों के रूप रखते हुए कहा कि सभी संगठनों को एक झंडे के नींचे आकर दादा मरकाम जी के आंदोलन को मजबूत बनाने में सभी लोगों को आगे आना होगा। इस दौरान तिरू पी के ताराम ने कहा कि लिखे पढ़े लोगों की आवश्यकता है। पढ़े लिखे तो बहुत हैं लेकिन सामाजिक ज्ञान से अनभिज्ञ हैं। वहीं अमीषा मरकाम ने कहा कि प्रत्येक मातृशक्तियों को रानीदुर्गावती जैसे बनने की जरूरत है ताकि शोषण अन्याय के खिलाफ लड़ सके। 

 हम सभी संगठनों को मिलकर काम करना चाहिए

इसके साथ ही साथ ही सीताराम उइके जीवायपी जिला अध्यक्ष ने कहा कि हम सभी संगठनों को मिलकर काम करना चाहिए। इसी के चलते सुनेश उइके जीएसयू पूर्व ब्लाक अध्यक्ष ने कहा कि गोंडवाना मेरी आन बान शान गोंड़वाना के लिए जीना गोंड़वाना के लिए मरना मेरा कर्तव्य है। सुनील उइके जीवायएस ने कहा कि संविधान में प्रदत्त हमारे हक अधिकारों को जानना जरूरी है। 

 गोंडवाना गणतंत्र पार्टी में सदस्यता अभियान जोरो से चालू करने की जरूरत है

शांति बाई उइके ब्लाक अध्यक्ष महिला प्रकोष्ठ जीजीपी ने कहा कि दादा हीरा सिंह मरकाम जी की बनाई हुई पार्टी गोंडवाना गणतंत्र पार्टी में सदस्यता अभियान जोरो से चालू करने की जरूरत है। सांस्कृतिक कार्यक्रम में सावरझोडी, मोहगांव, ठेमा के बच्चों ने शानदार प्रस्तुति दी। लक्ष्मी धुर्वे ने गीत गाकर रनबन रनबन समाज को एक जगह लाने आह्वान किया। 

कोयावंशी शम्भु शेख पेन ठाना समिति के सदस्य सहित पदाधिकारी व सदस्यगण रहे मौजूद

कोयावंशी शम्भु शेख पेन ठाना समिति के सदस्य नोक सिंह उइके, कन्हैयालाल सरार्टे, सुलखान सिंह उइके, अजय कंगाले, पदम परते. भुवन उइके, अत्तर वरकडे, सुमरन ककोटे, राकेश उइके, राकेश अडमाचे समस्त साथियों ने मिलकर कार्यक्रम को सफल बनाया। कार्यक्रम के मुख्य अतिथि हरनाम मरावी, एफ. एस. कमलेश, अशोक सैयाम, संपत सिंदराम, प्रहलाद सैयाम, सतिश उइके, राजकुमार उइके, दलपत उइके, प्रदीप उइके, काशमीरी, दिशा सैयाम सहित जीजीपी, जीएसयू, जीवायएस, जीवायपी के समस्त सक्रिय साथी उपस्थित हुए। 

No comments:

Post a Comment

Translate