Saturday, January 21, 2023

लखनादौन सीईओ मुख्यमंत्री की भांजियों को गांव की बेटी योजना के लाभ से कर रहे वंचित

लखनादौन सीईओ मुख्यमंत्री की भांजियों को गांव की बेटी योजना के लाभ से कर रहे वंचित 

भाजपा संगठन के पदाधिकारी पद के स्वार्थ में सरकार की योजनाआें का लाभ दिलाने में नहीं है गंभीर

जनभागीदारी अध्यक्ष के रूप में शपथ लेने वाले और छात्र नेता भी नहीं दे रहे ध्यान 


लखनादौन। गोंडवाना समय। 

सरकार की मंशा अनुरूप लोककल्याणकारी जनहित की योजनाओं का लाभ जनता तक तभी पहुंचता है जब शासन व प्रशासन के संबंधित अधिकारी कर्मचारी योजनाओं का लाभ देने में जिम्मेदारी के साथ क्रियान्वयन करते है अन्यथा सरकार की योजनाओं के लाभ पाने से हितग्राही वंचित रह जाते है।
                


मध्यप्रदेश में मामा के नाम से प्रसिद्ध मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के राज में जनपद पंचायत लखनादौन के मुख्य कार्यपालन आधिकारी शासकीय योजनाओं को गंभीरता से नहीं ले रहे है। विशेषकर मामा की भांजियां छात्राओं को ही योजनाओं का लाभ से वंचित करने का कार्य रहे है जिससे शिवराज मामा की योजनाओं की हकीकत भी जनता के सामने आ रही है कि शिराज सरकार के अफसर शासन की योजनाओं को लेकर कितने संवेदनशील है। 

भाषण देने और सुनने के बाद भाजपा के नेता और कार्यकर्ता दोनो भूल जाते है


हम आपको बता दे कि लखनादौन में भाजपा संगठन में पद को लेकर नूराकुश्ती चल रही है। मुख्यमंत्री, केंद्रीय मंत्री, विधायक, भाजपा अध्यक्ष सहित संगठन के नेताओं तक अपनी नेतागिरी चमकाने भाजपा नेता अपनी सरकार की योजनाओं का प्रचार-प्रसार करने के साथ साथ उसका लाभ धरातल तक पहुंचाने में सबसे पीछे है। संगठन के कार्यक्रमों में मंचों में भाषण ऐसे देते है कि हमें सरकार की योजनाओं का लाभ अंतिम पंक्ति के व्यक्ति तक पहुंचाना है लेकिन भाषण देने और सुनने के बाद भाजपा के नेता और कार्यकर्ता दोनो भूल जाते है।
                यही कारण है सरकार की योजनाओं का क्रियान्वयन करने में शासन और प्रशासन के अफसर सहित कर्मचारियों के द्वारा मनमानी की जाती है जनता व हितग्राही परेशान होते है जो सरकार के खिलाफ अपना मन बनाने लगते है यहीं छोटे छोटे कारण सरकार के लिये बड़ी खिलाफत का कारण बनते है जिस पर सत्ता और न ही संगठन का ध्यान रहता है। लखनादौन में गांव की बेटी योजना जो कि छात्राओं के लिये अति महत्वपूर्ण है और सरकार की बहुत ही अच्छी योजना है जिसका लाभ पात्र छात्राओं को मिलना चाहिये लेकिन यदि विभागीय अफसरों की हठधर्मिता के कारण यदि लाभ से वंचित हो जाये तो इसका जिम्मेदार कौन होगा। 

लखनादौन जनपद पंचायत सीईओ के हस्ताक्षर नहीं होने से छात्राएं हो रही परेशान

प्राप्त जानकारी के अनुसार विगत 15 दिनों से स्वामी विवेकानंद महाविद्यालय लखनादौन की छात्राएं गांव की बेटी योजना के फार्म में जनपद पंचायत लखनादौन के मुख्य कार्यपालन अधिकारी के हस्ताक्षर कराने के लिए आना-जाना कर रही है परंतु जनपद पंचायत लखनादौन सीईओ हस्ताक्षर करने में आनाकानी कर रहे है।
                जब इस बात की जानकारी मेहरा समाज महासंघ के जिला उपाध्यक्ष हीरालाल डेहरिया को लगी तो उन्होंने जनपद पंचायत सीईओ से चर्चा किया तब उन्होंने कहा कि यह कार्य मेरे कार्यक्षेत्र के अंतर्गत नहीं आता है और गांव की बेटी योजना के फार्म में हस्ताक्षर करने की तारीख खत्म हो चुकी है।
                 वहीं जब महाविद्यालय लखनादौन के प्राचार्य से बात किया गया तो उन्होंने बताया कि अभी गांव की बेटी योजना का पोर्टल चालू है। यदि मुख्य कार्यपालन अधिकारी हस्ताक्षर कर देते हैं तो छात्राओं को गांव की बेटी योजना का लाभ मिल सकता है। लखनादौन जनपद पंचायत सीईओ के हस्ताक्षर नहीं होने से छात्राएं परेशान हो रही है। 

No comments:

Post a Comment

Translate