गोंडवाना समय

Gondwana Samay

गोंडवाना समय

Gondwana Samay

Friday, August 23, 2019

गंदगी के ढेर पर सिवनी जनपद, लाखों का भवन भी बन रहा खंडहर

गंदगी के ढेर पर सिवनी जनपद, लाखों का भवन भी बन रहा खंडहर

मुख्यालय की जनपद, गौर फरमाए सीईओ साहब

सिवनी। गोंडवाना समय। 
जिला मुख्यालय की जनपद होने के बावजूद जनपद पंचायत सिवनी गंदगी के ढेर पर है। वहीं लाखों रूपए खर्च कर बनाया गया भवन जनपद के गेट के बीच कैद होकर रह गया है। भवन की सुध लेने की बजाय ताला जड़ा हुआ है। सालों से बंद रहने के कारण लाखों का भवन खंडहर बनते जा रहा है। जनपद और जिला पंचायत के नये सीईओ जनपद पंचायत की स्वच्छता और खंडहर बने भवन पर आखिर कब सुध लेंगे यह कहा नहीं जा सकता है।

ताला में कैद लाखों का भवन-

जनपद पंचायत कार्यालय के पीछे परिसर में तकरीबन पांच-छह साल हो चुके लाखों रुपए की लागत से भवन का निर्माण कार्य किया गया है लेकिन उसका उपयोग करने की बजाय उसे खंडहर बनाया जा रहा है। भवन जनपद पंचायत के दो गेटों के बीच कैद होकर रह गया है। व हीं जनपद के पंचायत समन्वयक, एडीओ सहित मनरेगा  विभाग की टीम ऐसे भवन में बैठ रही है जहां या तो कभी भी पानी सीपेज के कारण भरभरा भवन की छत गिर जाएगी या फिर जनपद के मकड़ाजाल बिजली के तारों की वजह से करंट फैलने का खतरा बन सकता है लेकिन जनपद पंचायत के सीईओ कोई सुध नहीं ले रहे हैं।
तत्कालीन सीईओ श्रीमति सुमनखातरकर ने कोई सुध ली और न ही नये व वर्तमान सीईओ रामकिशन कोरी सुध ले रहे हैं। सीईओ के जनपद में पदस्थ हुए तकरीबन एक माह होने जा रहे हैं उन्होंने तो जनपद पंचायत की बिल्डिंग तक का पूरा मुआयना नहीं किया है। हालांकि जब गोंडवाना समय की टीम ने उनसे बात की तो उन्होंने अगले ही दिन जनपद बिल्डिंग  और परिसर में बनी बिल्डिंग का मुआयना कर व्यवस्था सुधारने आश्वासन दिया है। वहीं जिला पंचायत सीईओ सुनील दुबे से भी जर्जर कमरों में बैठ रहे अधिकारी-कर्मचारियों ने जनपद पंचायत सिवनी के कमरों का निरीक्षण करने की गुहार लगाई है। ताकि उन्हें यह पता चल सके कि भवन और स्वच्छता की क्या स्थिति है।

खिड़कियां पीकदान और चारों तरफ गंदगी का ढेर-

लेखापाल और बाबू बनकर बैठे पंचायत समन्वयक के कमरों में गौर करें तो सरकारी कर्मचारियों ने खिड़कियों में गुटखा-पाउच थूक-थूक कर पिकदान बना दिया है। िखड़किया देखने में ऐसी लग रही है जैसे पक्षियां अपने मल से गदंगी करते हैं। वहीं दूसरी तरफ चारों तरफ गंदगी है। पंचायतों में जाकर स्वच्छता का भाषण देने वाले जनपद  पंचायत के समन्वयक,पंचायत इंस्पेक्टर, एडीओ, सीईओ एवं स्वच्छता प्रभारी महिला अधिकारियों को अपनी ही जनपद की गंदगी नजर नहीं आ रही है या यूं कहें कि धृतराष्ट्र की तरह आंख में पट्टी बांधकर बैठ गए हैं।
जनपद के प्रवेश द्वार के कुछ ही दूरी पर बने पेशाबघर में इतनी गंदगी मच गई है कि बाहर तक बहता हुआ नजर आ रहा है। बिल्डिंग भी जर्जर हो गई है कब किसके सिर पर छत का धपड़ा गिरकर लोगों को चोटिल कर दे कहा नहीं जा सकता है। वहीं घासपूस भी ऊग आई है। पीछे बने भवन के पास भी गाजरघास व अन्य खरपतवार उग आई है जिसकी सफाई करने की बजाय जनपद का गेट लगाकर जनपद का कबाड़ रख दिया गया है।

No comments:

Post a Comment

Translate