Thursday, October 3, 2019

जंगल में काम करवाकर आदिवासी मजदूरों को मजदूरी के लिए भटका रहा वन विकास निगम

जंगल में काम करवाकर आदिवासी मजदूरों को मजदूरी के लिए भटका रहा वन विकास निगम

कान्हीवाड़ा रेंज के मगरकठा और सरगापुर गांव के भटक रहे मजदूर

सिवनी। गोंडवाना समय।
बरघाट प्रोजेक्ट के अंतर्गत आने वाला वन विकास निगम आदिवासी मजदूरों का शोषण कर रहा है। वन विकास निगम के अफसर कमिशनबाजी के चलते ट्रेंच व  नाली खुदाई मशीनों से काम करवा रहा है। वहीं पेड़ों की कटाई व जंगल में साफ-सफाई करने वाले मजदूरों को शासन से भी कम दाम देकर जमकर शोषण कर रहा है। गुरूवार को वन विकास निगम के कान्हीवाड़ा रेंज के परिक्षेत्र अधिकारी और उनके अमले द्वारा काम कराए जाने के बाद भी मजदूरी न देने एवं शासन की दर से कम देने की शिकायत अपर कलेक्टर से लिखित रूप से की है।
वन विकास निगम के कान्हीवाड़ा रेंज अंतर्गत आने वाले ग्राम मगरकठा एवं सरगापुर गांव के आदिवासी मजदूरों से परिक्षेत्र अधिकारी एवं वन अमला द्वारा दो-तीन माह पूर्व 140 रुपए प्रतिदिन की मजदूरी की दर से जंगल में पेड़ों की कटाई-छटाई एवं का कार्य करवा लिया गया है लेकिन मजदूरी के रूप में उनका मेहनताना नही दिया गया है। मजदूरी मांगने पर आदिवासी मजदूरों को आज-कल का आश्वासन देकर भटकाया जा रहा है।

दूसरे गांव से ला लिए मजदूर-

वन विकास निगम के कान्हीवाड़ा परिक्षेत्र अधिकारी द्वारा मजूदरी का भुगतान न किए जाने की शिकायत लेकर कलेक्ट्रेट पहुंचे आधा सैकड़ा से ज्यादा मजदूरों ने बताया कि वन विकास निगम के अधिकारी-कर्मचारी द्वारा मजदूरी का भुगतान नहीं कर रहे हैं। वहीं कम मजदूरी को लेकर विरोध करने पर दूसरे गांव के मजदूर लाकर काम करवाया जा रहा है। ताकि कम मजूदरी और फर्जी हाजिरी भरकर पैसे निकाला जा सके।

मशीनों से भी करवाया गया काम-

वन विकास निगम द्वारा बारिश से पहले ट्रंच और नाली खुदाई का कार्य जेसीबी मशीनों से कराकर मजूदरों की रोजी-रोटी पर डांका डाला गया है। जिसका भुगतान भी निगम के अधिकारी-कर्मचारियों द्वारा कर दिया गया है लेकिन जब मजदूरों की मजदूरी की बात कही जा रही है तो बजट न होने का हवाला देकर परेशान किया जा रहा है। मजदूरों का साफ कहना है कि अभी दशहरा का त्यौहार आने वाला है और उसके बाद दीपावली है ऐसे में अगर उन्हें जल्द ही मजदूरी नहीं मिली तो उनके परिवार के लिए परेशानी खड़ी हो जाएगी।

इन मजदूरों ने किया पेड़ छंटाई का काम-

शिवनाथ ,दीपक,किशनलाल,रामजन,रामकिशोर,राजेन्द्र,दश्यु,मेहतर,संतकुमार,बसंत, श्रीमति मोना ,श्रीमति रूपवति बाई, यशोदा बाई,उर्मिला बाई,मधु,ओमकुमारी,घुड़न,सहतर,अटल सिंह, मेला, जयनाथ, चुन्नु, नंदकिशोर, रज्जु, सोनू, बीरन, राजकुमार, सालकराम, सेवकराम, प्रतिज्ञा, कान्ती, राजेश, कृष्णकुमारी, शिवकली, सुप्रिया, निरासो,  मानवती, नंदावती, सुखिया, सरिता उइके सहित तकरीबन आधा सैकड़ा से ज्यादा मजदुर कलेक्ट्रेट पहुंचकर अपर कलेक्टर मेडम को शिकायत की। जहां उन्होंने संबंधित अधिकारी से बात करके उनकी समस्या का जल्द ही समाधान व निराकरण करने का आश्वासन दिया है।

No comments:

Post a Comment

Translate