Saturday, April 18, 2020

उधार के रूपये मांगने पर डेरी संचालक की हुई थी हत्या

उधार के रूपये मांगने पर डेरी संचालक की हुई थी हत्या

डेरी संचालक की हत्या का मामले में 2 आरोपी गिरफतार 

साढ़े सात लाख रूपये के ब्याज सहित 12 लाख देने पर बनाया हत्या की योजना 

लखनादौन पुलिस ने 24 घंटे में  किया हत्याकाण्ड का पर्दाफाश  

लखनादौन। गोंडवाना समय। 
थाना लखनादौन के अर्तगत बीते 14 अप्रैल 2020 को बम्‍होड़ी बाय पास के समीप डेरी संचालक देवलाल पटेल की संदिग्‍ध स्थिति में रक्‍त रंजिश शव मिला था। सूचना मिलने पर लखनादौन पुलिस द्वारा मर्ग कायम कर शव का शासकीय अस्‍पताल लखनादौन मे पीएम कराया गया था। जहां पृथम दृष्टतय: पीएम में मत्‍यु का कारण सिर गले एवं चेहरे में आयी गंभीर चोटो के कारण मत्‍यु होना पाया गया था। इस मामले में थाना लखनादौन में अपराध क्रमांक 143/20 धारा 302, भा.द.वि. का पंजीबद्व कर गहन जांच पड़ताल थाना प्रभारी श्री एम डी नागोतिया द्वारा प्रारंभ की गई थी। 
हत्याकाण्ड के मामले में जिला पुलिस अधीक्षक श्री कुमार प्रतीक एवं अतिरिक्‍त पुलिस अधीक्षक श्री कमलेश खरपुसे के निर्देशन एवं श्री आर एन परतेती अनुविभागीय अधिकारी पुलिस लखनादौन के मार्ग दर्शन में थाना प्रभारी लखनादौन श्री महादेव नागोतिया एवं स्‍टाफ ने डेरी संचालक देवलाल पटेल के हत्‍या कांड का पदार्फाश 24 घंटे के अंदर करते हुये आरोपियो को गिरफ्तार करने मे सफलता हासिल किया है।

आरोपी पहले करते रहे पुलिस को गुमराह

लखनादौन पुलिस द्वारा विवेचना के दौरान पूछताछ एवं सायबर सेल के माध्‍यम से सिरंमगनी निवासी दिनेश राजपूत एवं प्रदीप राजपूत पर संदेह होने पर दोनो को अभिरक्षा में लेकर बारिकी से पूछताछ पर पहले पुलिस को दोनो गुमराह कर रहे थे तथा दोनो के विरोधाभाषी कथन होने से हिकमत अमली से पूछताछ  की गई  तो दोनो आरोपियो ने मृतक देवलाल की हत्‍या करना कबूल किया। 

बार-बार पैसा मांगने के कारण बनाया हत्या की योजना 

वहीं पुलिस द्वारा पूछताछ पर आरोपितयों द्वारा हत्या किये जाना कबूल करने के बाद, आरोपियों से पुलिस ने हत्‍या का कारण के संबंध में पूछताछ किया तो आरोपी दिनेश राजपूत  ने बताया कि मृतक देवलाल पटेल से साढ़े सात लाख रुपए पिछले साल उधार लिये थे, जिसका ब्‍याज सहित 12 लाख रुपए की राशि देवलाल इससे मांग रहा था। कई बार पैसो की मांग करता था इसी कारण से मृतक देवलाल की हत्‍या करने की योजना बना कर देवलाल की हत्‍या कारित करना बताया। 

पैसे देने के बहाने बम्होड़ी बायपास पर बुलाया था

हत्‍या के लिए दिनेश राजपूत ने षडयंत्र रच कर अपने ड्रायवर प्रदीप राजपूत के साथ मोटर साइकिल से बम्‍होड़ी बाय पास पहुंच कर प्रदीप राजपूत के मोबाईल से काल कर मृतक देवलाल को पैसे देने के बहाने से बुलवाया एवं बम्‍होड़ी बाय पास के रोड के किनारे देवलाल एवं दिनेश राजपूत बैठ कर हिसाब करने लगे तभी योजना के अनुसार पीछे से प्रदीप राजपूत ने धारदार हत्‍यार बका से देवलाल के गले में एवं सिर में वार कर दिया तथा दिनेश राजपूत ने भी प्रदीप से बका लेकर देवलाल को गले सिर एवं चेहरे पर क्रुरता पूर्वक कई बार, मार कर मृतक देवलाल पटेल की हत्‍या के बाद मृतक के पेंट जेब से मृतक का मोबाईल सेंमसंग कंपनी एवं दुकान की चाबी का गुच्‍छा तथा एक डायरी निकाल लिये थे ।

हत्या में प्रयुक्त हथियार व अन्य सामग्री किया जप्त           

दौरान विवेचना आरोपियो से  घटना मे प्रयुक्‍त हथियार  मृतक का मोबाईल, चाबी एवं मृतक के जेब से निकाले गये पैसे एवं घटना में प्रयुक्‍त मोटर साईकिल तथा घटना दिनांक को पहने कपड़े पुलिस ने  बरामद कर आरोपी दिनेश ऊर्फ दिन्‍नू पिता सरदार सिंह राजपूत उम्र 29 साल निवासी सिरंमगनी, प्रदीप राजपूत पिता धीरज सिंह राजपूत उम्र 24 साल निवासी ग्राम मचवारा थाना ठेमी जिला नरसिंहपुर हाल पता ग्राम सिरंमगनी को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

हत्याकांड को अंजाम देने वाले आरोपी को पकड़ने में इनकी रही भूमिका           

उक्‍त हत्‍या कांड के पदार्फाश करने मे थाना प्रभारी श्री महादेव नागोतिया,  उ.नि. श्री एन.पी. चौधरी, उ.नि. श्री एन.एस. तेकाम, आरक्षक 134 श्री अमित रघुवंशी, आरक्षक 123 श्री मोन्‍टी गोखले,  आरक्षक 138 श्री दशरथ धुर्वे,  आरक्षक 670 श्री प्रकाश उईके, आरक्षक 563 श्री होमेश्‍वर गायकवाड़, आरक्षक 715 श्री धनेश्‍वर यादव, आरक्षक 45 श्री अजय बरमैया, आरक्षक 196 श्री राहुल कुशवाहा,  प्रधान आरक्षक श्री देवेन्‍द्र जयसवाल सायवर सैल की महत्‍वपूर्ण भूमिका रही। 

No comments:

Post a Comment

Translate