Tuesday, May 26, 2020

शिवराज सरकार की घोषणा, अंग्रेजों के क्रुर हुकुमत की याद ताजा कर रही-कांग्रेस

शिवराज सरकार की घोषणा, अंग्रेजों के क्रुर हुकुमत की याद ताजा कर रही-कांग्रेस 

सिवनी में 26 मई तक बिजली बिल जमा नहीं करने पर कनेक्शन काटने का हो रहा प्रचार

कोई कनेक्शन काटने आयेगा तो मैं जोड़ने आऊंगा, कांग्रेस ने कहा कथनी और करनी में अंतर 

सिवनी। गोंडवाना समय। 
जिला कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ता राजीक अकील ने जारी प्रेस विज्ञप्ति में बताया कि मध्यप्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने जोड़-तोड़ कर मध्यप्रदेश में सरकार बनायी, तब से उनका आक्रोश प्रदेश के गरीब लोगो पर कहर बन कर टूटा है, ऐसा प्रतीत होता है कि प्रदेश के लोगो से इस बात का बदला ले रहा है कि उन्होंने पूर्ण बहुमत से भाजपा की सरकार क्यों नही बनवाई, प्रदेश में सरकार बनाने के लिए िपछले 15 वर्षो में प्रदेश का खजाना लूटकर, भ्रष्टाचार कर जो राशि जमा की गई थी उसमें से बहुत बड़ी रकम विधायको को खरीदने में खर्च कर दी। 

यदि समय पर मदद नहीं करते तो मजदूरों के होते ओर बुरे हाल 

जब से मध्यप्रदेश में शिवराज सिंह की सरकार बनी है। उसी समय से कोरोना संक्रमण के कारण प्रदेश के मजदूर, अन्य राज्यो से वापस आने के लिए संघर्ष कर रहे है। सैकड़ो किमी से पैदल, सायकल, हाथगाड़ी, बैलगाड़ी, रिक्शा, बस, ट्रक, में जानवरों की तरह आने पर मजबूर हो रहे है, कई दुर्घटना में घायल हुए और मौत के मूंह में समा गये किन्तु शिवराज सरकार द्वारा प्रवासी मजदूरो को शुरू में वापस लाने के लिए कोई प्रयास नहीं किये गये। यदि विभिन्न सामाजिक संगठन, राजनैतिक दल समय समय पर इन प्रवासी मजदूरो की मदद नहीं करते तो मजदूरो का इससे और बुरा हाल होता।

शिवराज सरकार कर रही कनेक्शन काटने का प्रचार 

एक ओर जहां देश के प्रधानमंत्री मकान मालिको से किराया न मांगने की बात कर रहे है वही दूसरी ओर शिवराज सिंह सरकार बिजली बिल न पटाने पर बिजली कनेक्शन काटने की बात कर रही है। सिवनी में म.प्र. वि.मं. द्वारा अपने वाहन से प्रचार किया जा रहा है कि 26 मई तक यदि बिजली बिल जमा न होने पर कनेक्शन काट दिये जायेंगे विभागीय कार्यवाही की जायेगी। चिलचिलाती धूप में कोरोना संकट से जूझ रहे गरीब, मजदूर, किसानो के लिए राज्य सरकार की यह घोषणा, अंग्रेजो के कू्रर हुकुमत की याद ताजा कर रही है। 

3 महिने का बिजली बिल माफ करें शिवराज सरकार 

कांग्रेस पार्टी मांग करती है कि दूसरे प्रदेशो की सरकारो से सबक लेकर, मध्यप्रदेश में भी मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान जी को चाहिए की प्रदेश के लोगो का 3 महिने का बिजली बिल माफ करे एवं पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ की सरकार के समय जो बिजली की दरे थी वही बिजली की दरें लागू रहे है। ये वही शिवराज सिंह है जिन्होंने विपक्ष में रहते हुए इतने कम बिजली के आने के बाद भी कहा था कि बिजली के बिल नहीं पटाना, यदि कोई कनेक्शन काटने आयेगा तो मैं जोड़ने आहूगा, इनकी कथनी और करनी में हमेशा अंतर रहा है।

No comments:

Post a Comment

Translate