Thursday, May 14, 2020

गर्भवती महिला मुंबई से यूपी के लिये निकली पैदल, लखनादौन में गूंजी किलकारी

गर्भवती महिला मुंबई से यूपी के लिये निकली पैदल, लखनादौन में गूंजी किलकारी 

मुंबई से पैदल यूपी-गौरखपुर के लिये निकले थे श्रमिक दंपत्ति
गर्भवती श्रमिक महिला ने लखनादौन में बालक को दिया जन्म
कराहती मानवता को सुकून देने लिए सामने आए समाजसेवक

टी आई लखनादौन ने प्रसूता और नवजात को गांव तक पहुचांने की व्यवस्था की

लॉकडाउन में परेशान होकर मुंबई महाराष्ट्र से उत्तरप्रदेश गौरखपुर अपना आशियाना पहुंचने के लिये पैदल निकले श्रमिक दंपत्ति ने कभी सोचा भी नहीं रहा होगा कि उनकी आने वाले संतान का जन्म लखन कुंवर की नगरी लखनादौन में होगा। गर्भवती श्रमिक महिलाओं के अधिकांश समाचार देश भर में सुनने को मिले है जहां पर उन्होंने पैदल चलने के बाद रास्ते में ही बच्चे को जन्म दिया है। ऐसा ही सिवनी जिले के लखनादौन मुख्यालय के अस्पताल में श्रमिक दंपत्ति के साथ भी हुआ और गर्भवती महिला ने नवजात स्वस्थ्य बच्चे को जन्म दिया जिसका नाम आलोक रखा गया है। 

लखनादौन। गोंडवाना समय। 
लॉक डाउन में फंसे मुंबई से प्रतापगढ़ के लिए पैदल निकले श्रमिक दम्पत्ति को उस वक्त बड़ी समस्या का सामना करना पड़ा जब गर्भवती महिला रास्ते में ही प्रसव पीड़ा से कराह उठी। जिसकी सूचना लखनादौन पुलिस थाना प्रभारी श्री महादेव नागोतिया को मिली उन्होंने अपनी टीम के साथ लखनादौन के सिविल अस्पताल पहुँचाया, जहाँ महिला ने एक स्वस्थ्य बालक को जन्म दिया।

नगद सहायता, भोजन, कपड़े, खिलौने, गुड़ के लड्डृ किया भेंट

इसके साथ ही लखनादौन पुलिस थाना प्रभारी श्री महादेव नागोतिया ने नवजात बच्चे के माता-पिता को फल, भोजन कपड़े, खिलौने, गुड़ के लड्डू और नगद सहायता करने के साथ-साथ उस दम्पत्ति को उत्तर प्रदेश के शहर प्रतापगढ़ तक पहुंचाने के लिए प्रशासनिक अनुमति के साथ ही वाहन करके गन्तव्य की ओर रवाना किया। 

घर तक पहुंचाने वाहन की व्यवस्था 

नगर के समाज सेवियों ओर पुलिस विभाग ने पुष्पहारों के साथ वाहन चालक श्रमिक दम्पत्ति और नवजात (आलोक) का अभिनंदन कर विदाई दी। इस बीच कुछ समाजसेवियों ने नगद राशि भी नवजात शिशु के माता पिता को प्रदान की। नवजात के पिता सूर्यमणि ने लखनादौन पुलिस थाना प्रभारी श्री महादेव नागोतिया और उनकी टीम सदाराम बघेल, अमित रघुवंशी, मोंटी गोखले, दशरथ धुर्वे, प्रकाश उइके समाजसेवियों को भगवान की संज्ञा देते हुए धन्यवाद  ज्ञापित किया। समाजसेवियों, पत्रकार बधुओ और पुलिस टीम ने ताली बजाकर उन्हें खुशी खुशी विदा किये।

No comments:

Post a Comment

Translate