Friday, September 11, 2020

प्रेमिका की मृत्यू के बाद पत्नि बताकर, जेबर लेकर फरार होने वाला इनामी आरोपी पकड़ाया

प्रेमिका की मृत्यू के बाद पत्नि बताकर, जेबर लेकर फरार होने वाला इनामी आरोपी पकड़ाया 

छपारा पुलिस ने अमानत में खयानत करने वाला आरोपी को किया गिरफतार 




छपारा
 । गोंडवाना समय।

पुलिस छपारा थाना अंतर्गत पिछले डेढ़ वर्ष से अमानत में खनायत करने वाला फरार इनामी निगरानी आरोपी को छपारा पुलिस ने कर्नाटक बैंगलोर से गिरफ्तार कर उसके कब्जे से 3 लाख 50 हजार सोने -चांदी का मशरूका बराम किया है। सिवनी पुलिस के मीडिया अधिकारी श्री आशिष खोबाग्रडे ने गुरूवार की देर शाम को जानकारी देते हुए बताया कि जिले के छपारा थाना अंतर्गत 2 अप्रैल 19 को पुलिस को शासकीय अस्पताल सिवनी से मृतिका श्रीमती पिंकी उर्फ सविता पति मोहनलाल विश्वकर्मा (27) निवासी मझगवां थाना मंझगवा जिला जबलपुर की मर्ग डायरी घटना स्थल छपारा का होने से अग्रिम जांच के लिए प्राप्त हुई। 

लापरवाहीपूर्वक तेजगति से वाहन चलाते समय गिरने से प्रेमिका का हुआ था एक्सीडेंट

मर्ग जांच उपरांत पाया गया की दिनांक 29 मार्च 2019 को आरोपी आकाश ऊर्फ राजकुमार सेन पिता कोमलप्रसाद सेन (26) साल निवासी पुराना कंचनपुर थाना आधारताल, जबलपुर के द्वारा प्रेमिका मृतिका पिंकी ऊर्फ सविता विश्वकर्मा के मोटरसाइकिल में साथ लेकर सिवनी से जबलपुर आते समय थाना छपारा अन्तर्गत रणधीर नगर एनएच 7 सड़क पर अपनी मोटरसाईकल क्रमांक एम.पी 20 एन.एल 1958 को तेजगति लापरवाही पूर्वक चलाकर प्रेमिका पिंकी ऊर्फ सविता विश्वकर्मा को मोटरसायकल से नीचे गिराने के कारण चोट आने से सिवनी अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गयी थी। आरोपी आकाश के द्वारा पुलिस को गलत जानकारी देते हुए मृतिका पिंकी को अपनी पत्नी बताकर उसके पास रखे सोने चांदी के जेवरात लेकर फरार हो गया था। जिस पर पुलिस ने आरोपी के विरूद्ध धारा 304ए, 177, 406 ता०हि0 का प्रकरण दर्ज कर विवेचना पर लिया गया।

आरोपी जबलपुर का निगरानी बदमाश 

आगे बताया गया कि प्रकरण में आरोपी की गिरफ्तारी के अथक प्रयास किये गये किन्तु आरोपी लगातार पिछले डेढ़ वर्ष से फरार रहकर अपनी फरारी काट रहा था। जो आरोपी के सबंध मे लगातार पतासाजी कर थाना आधारताल जबलपुर में आपराधिक रिकार्ड के सबंध मे पता किया गया तो उसके विरूद्ध थाना आधारताल में आधा दर्जन मामले मारपीट, अवैध हथियार, लूट एवं चोरी के मामले दर्ज है एवं आरोपी वहां का निगरानी बदमाश है। आरीपी पूर्व में भी हत्या के मामले में जिला दमोह से सजायाप्ता होना पाया गया तथा थाना खोडारे जिला गोंडा उत्तर प्रदेश में भी नाबालिक लड़की को भगाने मे धारा 363, 366, 376 ताहि में फरार होना पाया गया।

पुलिस अधीक्षक ने 5 हजार का ईनाम किया था घोषित 

बताया गया कि मामले की गंभीरता को देखते हुये सिवनी पुलिस अधीक्षक श्रीमान कुमार प्रतीक ने आरोपी आकाश के उपर 5 हजार रुपये की ईनामी उदघोषणा कर अति. पुलिस अधीक्षक श्री कमलेश खरपुसे के निर्देशन एवं एसडीओपी श्री आर.एन.परतेती लखनादोन के मार्गदर्शन में टीम तैयार की गयी और आरोपी आकाश पिता कोमलप्रसाद सैन (35) निवासी संजय नगर आधारताल की साइबर सेल से जानकारी प्राप्त कर तकनीकी साक्ष्यो को आधार पर कर्नाटक बैंगलोर से गिरफ्तार कर 03 लाख 50 हजार सोने चांदी का मशरूका जप्ती किया जाकर आरोपी को जिला न्यायालय पेश किया गया।

इनका सराहनीय योगदान, पुलिस अधीक्षक ने नगद पारितोषिक देने की घोषणा 

उक्त आरोपी की गिरफतारी में छपारा पुलिस थाना प्रभारी श्री नीलेश परतेती, उ निरीक्षक एस डी सनोडिया, प्रधान आरक्षक श्री संजय ठाकुर, रविन्द्र सिंह, वरिष्ठ आरक्षक श्री जयेन्द्र बघेल, बिहारीलाल धुर्वे समस्त स्टाप सायबर सेल सिवनी से उप निरीक्षक श्री आशीष खाब्रागढ़े, प्रधान आरक्षक देवेन्द्र जैसवाल, आरक्षक अजय बघेल, श्री विनय चौरिया, महिला आरक्षक पुष्पा बघेल का सराहनीय योगदान रहा, जिसे पुलिस अधीक्षक श्रीमान कुमार प्रतीक द्वारा नगद पारितोषिक प्रदान करने की घोषणा की गई। 

No comments:

Post a Comment

Translate