Monday, October 12, 2020

कांकेर में पत्रकारों के साथ हुए घटनाक्रम के संबंध में राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

कांकेर में पत्रकारों के साथ हुए घटनाक्रम के संबंध में राज्यपाल को सौंपा ज्ञापन

आप सभी निडर होकर काम करें और जनसमस्याओं को सामने लाएं

राज्यपाल ने पत्रकार श्री कमल शुक्ला से अनशन तोड़ने का किया आग्रह


रायपुर। गोंडवाना समय।
 

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके से राजभवन में पत्रकारों के प्रतिनिधिमण्डल से मुलाकात कर कांकेर में पत्रकारों के साथ हुई मारपीट की घटना के संबंध में ज्ञापन सौंपा। राज्यपाल ने कहा कि मीडिया को लोकतंत्र का चौथा स्तंभ माना जाता है। आप सभी निडर होकर काम करें और जनसमस्याओं को सामने लाएं। राज्यपाल ने कहा कि पत्रकारों के द्वारा सुदूर एवं संवेदनशील क्षेत्र में कार्य कर शासन के समक्ष जिस प्रकार जनसमस्याओं को सामने लाया जाता है, वह सराहनीय है। इसके साथ ही मीडिया के माध्यम से जनता तक शासन की कल्याणकारी नीतियां भी पहुंचती है। इस प्रकार मीडिया शासन और जनता के मध्य सेतु की भूमिका निभाते हैं। 

दोषियों को कड़ा से कड़ा दंड दिलाया जाएगा

राज्यपाल ने कहा कि आप लोगों के साथ न्याय होगा। कांकेर में पत्रकारों के साथ जो घटना घटित हुई है, इस संबंध में शासन से रिपोर्ट मंगाकर न्यायोचित और निष्पक्ष कार्यवाही की जाएगी और दोषियों को कड़ा से कड़ा दंड दिलाया जाएगा। राज्यपाल ने पत्रकारों से समस्त घटनाक्रम की जानकारी ली। राज्यपाल ने श्री कमल शुक्ला से उनकी स्वास्थ्यगत परिस्थितियों एवं कोविड-19 के संक्रमण के मद्देनजर उनसे अनशन तोड़ने का आग्रह किया।


No comments:

Post a Comment

Translate