गोंडवाना समय

Gondwana Samay

गोंडवाना समय

Gondwana Samay

Thursday, December 31, 2020

अंधेरे में व्यापारियों या किसानों की धान 2 कि.मी. दूर पिपरिया ग्राम में क्यों तौल रहे झिंझरई खरीदी केंद्र प्रभारी

अंधेरे में व्यापारियों या किसानों की धान 2 कि.मी. दूर पिपरिया ग्राम में क्यों तौल रहे झिंझरई खरीदी केंद्र प्रभारी 

झिंझरई खरीदी केंद्र प्रभारी की मनमानी से किसान परेशान


सिवनी। गोंडवाना समय।

जनजाति बाहुल्य विकासखंड घंसौर के अंतर्गत जिला मुख्यालय सिवनी से लगभग 150 किलोमीटर की दूरी पर स्थित ग्राम पंचायत झिंझरई में मध्यप्रदेश के मुख्य सचिव कृषि श्री सुभाष जैन के आदेश पर 2 मई वर्ष 2011 को 19 ग्राम का सेंटर ग्राम झिंझरई में शासकीय समर्थन मूल्य धान गेहू खरीदी केंद्र खोला गया है। किसानों को इसका लाभ भी मिल रहा था वहीं पूर्व के वर्षों में यहां पर 50 हजार विक्ंटल तक की खरीदी हुई है। 

15 दिनों से किसानों की रखी है झिंझरई खरीदी केंद्र में किसानों की धान 

घँसौर के प्रबंधक, केदारपुर के प्रबन्धक और झिंझरई खरीदी प्रभारी आॅपरेटर की मिली भगत से स्व स्वार्थ के चलते कभी बारदाने नहीं होने का तो परिवहन नहीं होने सहित अन्य आदि का बहाना किसानों को बताकर समय पर खरीदी नहीं किया जाता है। कुछ किसानों की लगभग 15 दिनों से धान झिंररई खरीदी केंद्र में रखी है परंतु तुलाई नहीं हो पा रही है परंतु 2 किलोमीटर दूर अंधेरे में धान की तुलाई जारी है। 

पिपरिया के महावीर खेल मैदान में धान की बोरियों का लगी छल्ली  


झिंझरई खरीदी केंद्र के जिम्मेदार रात के अंधेरे में शासन प्रशासन के अधिकारियों के दिशा निर्देशों को अंगूठा दिखाते हुये व्यापारियों की धान को 2 किलोमीटर दूर खरीदी कर रहे है। ग्राम पंचायत झुरकी के ग्राम पिपरिया के मैदान खरीदी की जा रही है।

रात के अंधेरे में ट्रक के ट्रक धान को तौला जाकर मैदान में एकत्र किया गया है। क्षेत्रिय ग्रामीणों की जब रात के अंधेरे में धान तौलने की जानकारी मिली और सुबह जब उन्होंने पिपरिया के महावरी खेल मैदान में धान की बोरियों की छल्ली का ढेर को देखा तो उन्होंने इस संबंध में पता लगाने की कोशिश भी किया है कि आखिर झिंझरई खरीदी केंद्र से अलग हटकर पिपरिया के खेल मैदान में किसकी धान तौली गई है और क्यों तौली जाकर मैदान में एकत्र की गई है। 

No comments:

Post a Comment

Translate