Thursday, December 31, 2020

फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर नौकरी करने वालों को बर्खास्त कर कानूनी कार्यवाही की मांग

फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर नौकरी करने वालों को बर्खास्त कर कानूनी कार्यवाही की मांग 

उप तहसील मवई में  जीएसयू ने सौंपा ज्ञापन


संवाददाता रॉकी धुर्वे
मवई/मंडला। गोंडवाना समय।

गोंडवाना स्टूडेंट यूनियन आॅफ इंडिया मण्डला इकाई की शाखा मवई द्वारा मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री श्री शिवराज सिंह चौहान के नाम ज्ञापन मवई उप तसहील में सौंपा गया। गोंडवाना स्टूडेंट यूनियन मवई द्वारा सौंपे गये ज्ञापन के माध्यम से मुख्यमंत्री का ध्यानाकर्षण करते हुये मांग की गई है कि मध्य प्रदेश के विभिन्न शासकीय विभागों में  फर्जी जाति प्रमाण पत्र के माध्यम से पदस्थ अधिकरियों व कर्मचारियों के संबंध में तत्काल जांच कर कड़ी से कड़ी कार्यवाही की जावे। 

शैक्षणिक संस्थानों को न किया जाये बंद

गोंडवाना स्टूडेंट यूनियन ने फर्जी जाति प्रमाण पत्र के आधार पर शासकीय नौकरी प्राप्त करने वाले अधिकारियों कर्मचारियों के साथ ही अन्य योजनाओं का लाभ लेने के मामले में आक्रोश जताते हुये कहा है कि इनकी जांच कर शासकीय सेवा मेें लाभ प्राप्त करने वालों को बर्खास्त किया जावे एवं कानूनी कार्यवाही की जावे। इसके साथ ही गोंडवाना स्टूडेंट यूनियन मवई शाखा द्वारा यह भी मांग की गई कि जनजाति बाहुल्य क्षेत्रों में सरकारी शैक्षणिक संस्थानों को बंद न किया जावे वरन उन्हें यथावत प्रारंभ किया जावे। इसके साथ ही गोंडवाना स्टूडेंट यूनियन द्वारा बंद छात्रावास, आश्रम शालाओं को भी शीघ्र प्रारंभ करवाये जाने की मांग किया है। 

ज्ञापन सौंपते समय ये रहे मौजूद 

गोंडवाना स्टूडेंट यूनियन के मीडिया प्रभारी दीपक किरंते ने जानकारी देते हुये बताया कि यदि शासन इन मांगों को नहीं मानती है तो जीएसयू आने वाले समय में उग्र आंदोलन करेगा। ज्ञापन सौँपते समय गोंडवाना स्टूडेंट यूनियन आॅफ इंडिया ब्लॉक शाखा मवई के ब्लॉक अध्यक्ष रंजीत धुर्वे, सचिव मानिक सिंह मरकाम, महासचिव सुखनंदन मरावी, सलाहकार प्रकाश धुर्वे, हिम्मत सिंह मरावी, प्रेमवती आर्मों, चरण परते, दादू लाल श्याम मौजूद रहे। 


No comments:

Post a Comment

Translate