Thursday, December 17, 2020

निजी स्कूल में फर्जीवाड़ा, दो निजी स्कूल के बीच फंसा बच्चों का भविष्य

निजी स्कूल में फर्जीवाड़ा, दो निजी स्कूल के बीच फंसा बच्चों का भविष्य

बगैर बोर्ड की मान्यता निजी स्कूल में विद्यार्थियों का लिया एडमिशन अब टीसी के लिए अभिभावक हो रहे हैं परेशान


सिवनी। गोंडवाना समय। 

सिवनी नगर के बारापत्थर क्षेत्र में संचालित डिवाइन पब्लिक स्कूल द्वारा बगैर बोर्ड की मान्यता के स्कूल में दसवीं के छात्रों का एडमिशन लेने का मामला सामने आया है। छात्र बाकायदा साल भर स्कूल आते रहे और फीस भी भरते रहे लेकिन जब बोर्ड परीक्षा देने की बात आई तो स्कूल संचालक ने विद्यार्थियों को ग्राम डूंडा सिवनी स्थित ज्ञानोदय पब्लिक स्कूल में सम्मिलित करा दिया लेकिन जब छात्र शुभम सनोडिया ने 11 वीं के एडमिशन उत्कृष्ट विद्यालय सिवनी में ले लिया और उसे टीसी की जरूरत पड़ी तो डिवाइन पब्लिक स्कूल द्वारा यह कहा गया कि तुम्हें ज्ञानोदय पब्लिक स्कूल से टीसी मिलेगी और जब छात्र ज्ञानोदय पब्लिक स्कूल गया तो उन्होंने कहा कि डिवाइन पब्लिक स्कूल की टीसी देंगे। 

पिछले दो माह से यह विद्यार्थी स्कूलों के चक्कर काट काट कर थक गया है और जब उसने जिला शिक्षा अधिकारी को इस पूरे मामले की शिकायत की तो जिला शिक्षा अधिकारी का कहना है कि डिवाइन पब्लिक स्कूल को नोटिस दिया गया है कि उसने बगैर मान्यता के कैसे दसवीं के छात्रों का एडमिशन लिया था उनका यह भी कहना है कि डिवाइन पब्लिक स्कूल के विरुद्ध वैधानिक कार्यवाही भी की जाएगी। इसके अलावा ज्ञानोदय स्कूल भी कटघरे में है। देखना यह है कि शिक्षा के मंदिर में इस तरह का व्यवसाय करने वालों पर आगे क्या कार्रवाई होती है।

No comments:

Post a Comment

Translate