गोंडवाना समय

Gondwana Samay

गोंडवाना समय

Gondwana Samay

Tuesday, December 8, 2020

कृषि कानून निजीकरण व किसानों का आर्थिक संकट बढ़ाने वाला है, इसे तत्काल वापस लिया जाये

कृषि कानून निजीकरण व किसानों का आर्थिक संकट बढ़ाने वाला है, इसे तत्काल वापस लिया जाये

लखनादौन में किसानों के समर्थन में एमएसपी लागू किये जाने के लिये सौंपा ज्ञापन  


लखनादौन। गोंडवाना समय। 

गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष व प्रदेश अध्यक्ष के दिशा निर्देश पर भारत बंद का समर्थन करने के लिये लखनादौन ब्लॉक मुृख्यालय में केन्द्रीय कृषि कानून 2020 को रद्ध कर पुन: न्यूनतम समर्थन मूल्य लागू किये जाने की मांग को लेकर एवं किसानों के द्वारा दिल्ली में किये जाने आंदोलन की समस्त मांगों को पूर्ण किये जाने को लेकर ज्ञापन अनुविभागीय दण्डाधिकारी लखनादौन को गोंडवाना गणतंत्र पार्टी व गोंडवाना स्टूडेंट यूनियन के पदाधिकारियों के द्वारा 8 दिसंबर 2020 को सौंपा गया। 

निजीकरण की मंशा को स्पष्ट प्रकट कर रहा 


गोंडवाना गणतंंत्र पार्टी द्वारा सौंपे गये ज्ञापन में उल्लेख किया गया है कि हमारा देश कृषि प्रधान देश है, जहां किसान सिर्फ और सिर्फ कृषि कार्य पर निर्भर है। यहां देश की रीड़ की हड़डी कहे जाने वाले कृषक किसान अन्नदाता खेतीहर को अनेको नाम से जाना जाता है। वहीं भारत सरकार द्वारा कृषि कानून के ्रन्द्रीय कृषि कानून वर्ष 2020 कांट्रेक्ट कार्मिंग पारित किया गया है, जो निजीकरण पर आधारित है, जिसमें निजी औघौगिक संस्थानों, उघोगपतियों के मंशानुसार सरकार द्वारा किये जा रहे निजीकरण की मंशा को स्पष्ट प्रकट करता है। 

किसानों की अस्मिता खतरे में व बढ़ रहा आर्थिक संकट 

यदि भारत की अमुल्य धरोहर जो कि कृषि पर आधारित है, जिसे निजीकरण किया जाना देश के अन्नदाता किसानों क साथ विश्वासघात है। जिससे सम्पूर्ण भारत देश के अन्नदाता कृषक किसान खेतीहर परिजन अत्याधिक आर्थिक संकट बढ़ने के साथ-साथ कृषि कार्य व किसानों की अस्मिता खतरे में है जिसकी भरपाई किया जाना सम्भव नहीं है। केन्द्रीय कृषि कानून 2020 जो कि पूर्णत: निजीकरण पर आधारित है वह देश के किसानों के साथ बड़ा विश्वासघात है। 

जनहित में एमएसपी लागू करने की मांग 

उक्त किसान विरोधी कानून पर गोंडवाना गणतंत्र पार्टी ने निर्णय लिया है कि सरकार द्वारा पारित केंद्रीय कृषि कानून 2020 को तत्काल रद्द करते हुए पन: न्यूनतम समर्थन मूल्य एम.एस. पी. किसानों के सम्मान व जनहित में लागू किये जाने हेतु राष्ट्रीय अध्यक्ष गोंडवाना गणतंत्र पार्टी तिरूमाल तुलेश्वर सिंह मरकाम के नेतृत्व में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी द्वारा किसान आन्दोलन लखनादौन 8 दिसंबर 2020 भारत बंद का पूर्णत: समर्थन किया गया है। 

किसानों के सम्मान में गोंगपा मैदान में है

चूंकि गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के संस्थापक पेन दादा हीरा सिंह मरकाम जी का किसानों के प्रति सच्ची श्रद्धा व संकल्पित नारा था कि किसानों के सम्मान में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी हमेशा है मैदान में का नारा बुलंद किया जाता रहा है। इसलिये गोंगपा द्वारा ज्ञापन में मांग की गई है कि कें्रदीय कृषि कानून 2020 को अन्नदाताओं किसानों के सम्मान जनहित में तत्काल निरस्त करते हुुए न्यूनतम समर्थन मूल्य लागू किये जावे। एसडीएम लखनादौन को ज्ञापन सौंपते हुए गोंडवाना गणतंत्र पार्टी कार्यकारिणी सदस्य अरविंद्र सिंह उईके एवं स्टूडेंट यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष शौक लाल कुलस्ते, जीजीपी जिला उपाध्यक्ष अनिल धुर्वे, कांटा मसराम, वरिष्ठ समाज सेवक दादा वीर सिंह उईके एवं महेश शाह बट्टी, बैनी सलाम एवं क्षेत्र के किसान बंधु मौजूद रहे।


 

No comments:

Post a Comment

Translate