गोंडवाना समय

Gondwana Samay

गोंडवाना समय

Gondwana Samay

Saturday, January 9, 2021

क्या नगर पालिका ने कचरा फैंकने और पेशाब करने के लिये बनाया था सीमेंट की सड़क ?

क्या नगर पालिका ने कचरा फैंकने और पेशाब करने के लिये बनाया था सीमेंट की सड़क ?


सिवनी। गोंडवाना समय।

शहरी क्षेत्र में विकास कार्य कराने के लिये सरकार के द्वारा प्रदत्त धन रशि को खर्च करने और ठेकेदारों को मालामाल करने के लिए नगर पलिका परिषद सिवनी के द्वारा पूर्व परिषद के कार्यकाल में ऐसे स्थानों पर सीमेंट की पक्की सड़क का निर्माण कर दिया गया है। इसी तरह के अनेकों निर्माण कार्य को आधार बना कर सिवनी शहर में चहुमुंखी विकास किये जाने के नाम पर नगर पालिका परिषद के संबंधित जनप्रतिनिधि व उनका राजनैतिक संगठन चुनाव में वोट लेने के लिये प्रस्तुत करता है। सिवनी शहर के जागरूक नागरिक भी उनकी बातों पर विश्वास करके नगर पालिका परिषद में अपना समर्थन देकर कुर्सी में बैठालकर जनसेवक बनाते आ रही है। 

10 लाख की लागत से बनी सड़क दे रही गंदगी का संदेश 


हम आपको सिवनी शहर के पॉश इलाका कहलाने वाला क्षेत्र में बनाई गई सीमेंट की पक्की सड़क से रूबरू कराते है जिसका उपयोग कचरा फैंकने और पेशाब करने के लिये किया जा रहा है। वहीं सिवनी शहर में कुछ ऐसे भी वार्ड है जहां पर क्षेत्र वासी पक्की सड़क, नाली आदि बनाये जाने के लिए नगर पालिका परिषद के जनप्रतिनिधियों को बोल-बोल कर थक चुके है और कुछ लोगों ने तो आमरण अनशन तक किया है लेकिन उसके बाद भी कई क्षेत्र सड़क व अन्य सुविधाआें के लिए तरस रहे है। वहीं सिवनी शहर के राजनैतिक रसूखदारों के निवास स्थल क्षेत्र बारापत्थर अकबर वार्ड में एक सीमेंट की पक्की सड़क सिर्फ कचरा फैंकने और पेशाब करने के लिए बनाया गया है। सीमेंट सड़क निर्माण के लिये लगभग 10 लाख रूपये की लागत नगर पालिका परिषद सिवनी ने खर्च कर सिवनी शहर के विकास में नया आयाम गढ़ा है।

शिक्षितों व जागरूकों के लिये सड़क बनी सवाल 


हम आपको बता दे कि सीमेंट की पक्की सड़क पर आवागमन करते हुये तो कोई दिखाई नहीं देता है लेकिन कचरा फैंकते हुये और पेशाब करते हुये लोग आसानी से दिखाई देते है। यहां यह एक महत्वपूर्ण व विचारणीय विषय है की उक्त सड़क के आसपास सभी शिक्षित जागरूक वर्ग निवास करता है लेकिन उसके बाद भी सीमेंट की पक्की सड़क का उपयोग जिस तरह से कचरा फैंकने और पेशाब करने के लिए किया जा रहा है, वह अपने आप में बड़ा सवाल है।

स्वच्छता सर्वेक्षण में क्यों रह जाता है पीछे सिवनी शहर 

वहीं हम आपको बता दे कि स्वच्छता सर्वेक्षण में नगर पालिका परिषद सिवनी दीवारों में पेंटिंग और फलेक्स होर्डिंग्स में सबसे आगे प्रति वर्ष नजर आती है लेकिन जब स्वच्छता सर्वेक्षण के लिये नंबर वन से ेकर आगे तक की सूची जारी होती है तो सिवनी शहर का नाम गुमनाम होता है। इसके पीछे जितनी नगर पलिका परिषद की जिमेदारी है उससे कहीं ज्यादा जबावदारी है शहर के नगरिकों की भी है। सबकों मालूम है और सबके कानों में यह आवाज जरूर गंूजती है कि कचरा गाड़ी आ गई, कचरा गाड़ी आ गई वह तेज आवाज में अन्य स्वच्छता व स्वास्थ्य के संदेश देती है। इसके बाद भी पक्की सड़क पर ही कचरा फेकने का स्थान बनाना कहां तक उचित है। 


No comments:

Post a Comment

Translate