Wednesday, March 10, 2021

मातृशक्तियों को भी सम्मान निधि की मुद्रा घर की मुखिया को उपहार स्वरूप दे सरकार

मातृशक्तियों को भी सम्मान निधि की मुद्रा घर की मुखिया को उपहार स्वरूप दे सरकार 

किसान संघर्ष समिति ने मनाया महिला दिवस 


सिवनी। गोंडवाना समय। 

किसान संघर्ष समिति के साथियों की ग्राम सरगापुर में 8 मार्च 2021 को एक बैठक सम्पन्न हुई। जिसमे आगामी रणनीति पर चर्चा हुई तदुपरांत अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के रूप में ग्रामीण मातृशक्तियों की उपस्थिति में बयोवृद्ध श्रीमति सगुन बाई को कुर्सी में बैठाकर नरेश सनोडिया नें चरण पखार आरती उतारी, तिलक वंदन कर पुष्प साल एवं नगद राशी भेंट की। इसके साथ ही उपस्थित साथियों ने बारी बारी से सभी मातृशक्तियों का पुष्प भेंट कर आशीर्वाद प्राप्त किया। 

सम्मान राशि की योजना बनाकर गौरवान्वित कर उनका सम्मान करें


इस अवसर पर परसराम सनोडिया, रामकुमार सनोडिया, डॉ राजकुमार सनोडिया ने भारतीय नारी शक्ति के संदर्भ में प्रकाश डालते हुए देश एवं राज्य के मुखिया  से मांग की है कि जिस तरह किसानों को साल में दस हजार रुपए सम्मान निधि बतौर दे रहे हैं ठीक इसी तरह प्रति वर्ष अंतरराष्ट्रीय महिला दिवस के दिन नारी शक्ति जो घर की मुखिया है, जिसका काम भावि पीढ़ियों का निर्माण ही नहीं पुरुष वर्ग के साथ कंधे से कांधा मिलाकर देश के विकास में आज सहभागी भी हैं।
        

यह शक्ति का पूरे घर परिवार समाज एवं देश के प्रति समर्पण भाव के रूप में कार्य किया जाना हमारे लिये एक वरदान हैं, जिसका कोई मूल्य नहीं हो सकता परंतु देश में हर वर्ग विशेष को किसी न कि रूप में सरकार लाभ देने की बात हमेशा करती रहती है। हमारी राय यह है कि जिस तरह किसान साथियों को केंद्र एवं राज्य सरकारें किसान सम्मान निधि की राशी देकर अर्थ व्यवस्था में सहयोग कर रही हैं।
        ठीक उसी  तरह मातृशक्तियों को भी सम्मान निधि की मुद्रा घर कि मुखिया को उपहार के रूप में भेंट कर उन्हें गौरवान्वित कर उनका सम्मान करें ताकि लाभार्थ योजना से वे भी वंचित ना रह सकें इस बात को डॉ राजकुमार सनोडिया ने कही जिसका समर्थन उपस्थित जनों ने तालियों की ध्वनि के रूप में किया । 

कार्यक्रम का समापन मातृशक्तियों का आशीर्वाद लेकर किया गया। कार्यक्रम में सर्वश्री मनीराम जी, डॉ राजकुमार सनोडिया, रामभरोस पटेल जी, रामकुमार जी, इमरत लाल जी ,परसराम जी, प्रदीप बघेल जी, शेरू सनोडिया, कीर्ति, नीतू, मालती, मोनिका, टिकमनी, प्रीति, सीता, रविशंकर, रामदयाल, राजू, राजा, जयराम, सहित अन्य लोगों की उपस्थिति सराहनीय रही।

No comments:

Post a Comment

Translate