Wednesday, March 10, 2021

समाज में भूमिका व महिलाओं के संवैधानिक अधिकारों पर हुये विशेष चर्चा

समाज में भूमिका व महिलाओं के संवैधानिक अधिकारों पर हुये विशेष चर्चा

हरदा जिला मेंमहिला सम्मान समारोह सफतापूर्वक संपन्न


हरदा। गोंडवाना समय।

8 मार्च 2021 सोमवार को अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर सर्व आदिवासी महिला संगठन जिला हरदा के द्वारा महिला सम्मान दिवस समारोह का कार्यक्रम रखा गया। जिसमें हरदा जिला सहित अन्य जिलों की महिलाएं एवं पुरुष बड़ी संख्या में सम्मिलित होकर इस कार्यक्रम को सार्थक कर आदिवासी समाज का गौरव बढ़ाया।

 सभी फर्ज निभाती है तभी तो नारी कहलाती है


इस मौके पर अतिथियों ने अपने उद्बोधन में महिला सशक्तिकरण, महिलाओं की सुरक्षा एवं वर्तमान स्थिति, महिलाओं की शिक्षा एवं समाज में भूमिका, महिलाओं का संवैधानिक अधिकार आदि विषयों पर विस्तार से चर्चा की और कहां की बेटी, बहू कभी मां बनकर सभी के सुख दु:ख को सहकर अपने सभी फर्ज निभाती है तभी तो नारी कहलाती है।

महिलाओं ने हड़ताल शुरू की थी वह तारीख 8 मार्च थी


पूरे विश्व में 8 मार्च को प्रतिवर्ष महिला दिवस के रूप में मनाया जाता है अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस की शुरूआत एक मजदूर आंदोलन के रूप में हुई, सन उन्नीस सौ आठ में अमेरिका के न्यूयॉर्क शहर में 15000 महिलाओं ने रैली मार्च निकालकर नौकरी के काम में कम समय घंटों की एवं बेहतर वेतन दिया जाए और मतदान का अधिकार दिया जावे महिलाओं के इस आंदोलन को देखकर विश्व के देशों ने महिलाओं का समर्थन किया। जिस दिन महिलाओं ने हड़ताल शुरू की थी वह तारीख 8 मार्च थी तब से प्रतिवर्ष इस दिन से महिला दिवस मनाया जाता है

मुख्य रूप से ये रहे मौजूद


इस मौके पर कार्यक्रम की अध्यक्षता श्रीमती ठाकुर प्रमिला सिंह भुसारिया, उपाध्यक्ष राखी करोची, कोषाध्यक्ष रागीनी ठाकुर, रमा प्रेम शांति टेकाम, सीमा बाबू सिंह वास्केल, बरखा उईके, संगीता चौहान, शैलूजा शाह एवं डॉ रितु पेंद्रो समाजसेवी भोपाल मुख्य रूप से उपस्थित रहे। 

No comments:

Post a Comment

Translate