Tuesday, March 30, 2021

मुख्यमंत्री जी आपकी बहनों की रसोई पर महंगाई की मार से भांजा-भांजी रुखा सुखा खाकर कर रहे गुजारा

मुख्यमंत्री जी आपकी बहनों की रसोई पर महंगाई की मार से भांजा-भांजी रुखा सुखा खाकर कर रहे गुजारा 

दोगुने दाम में बिक रहे हैं खाने के तेल, गरीबों की हालत खराब

मुख्यमंत्री जी कालाबाजारी करने वालों पर कब होगी कार्यवाही ?


अजय नागेश्वर संवाददाता
उगली। गोंडवाना समय।

गोंडवाना समय जनता के हक अधिकार के लिए हमेशा लड़ता रहेगा। ये जंग तब तक जारी रहेगी जब तक कि भारत के मेहनतकश लोगों की लूट और कुदरती स्रोतों पर चंद परजीवी लोगों द्वारा लूट होती रहेगी। मध्यप्रदेश के सिवनी जिले में कोरोना काल के समय से खाने के तेल का दाम आसमान छू रहा है। जो तेल पहले 80 रूपए लीटर मिलता था अब उसकी कीमत 160 रुपए हो गई है जो कि बहुत ज्यादा है। अब ये सवाल खड़ा हो रहा है कि प्रदेश के मुखिया कालाबाजारी करने वालों पर कार्यवाही क्यों नहीं कर रहे हैं।

1 लीटर के पैकेट में 750 ग्राम तेल

हम आपको बता दें मार्केट में कोरोना काल के बाद नए-नए प्रकार के तेल देखे जा रहे हैं। वही जब नए-नए प्रकार के तेल मार्केट में आ रहे हैं तो तेल के रेट घटना चाहिए लेकिन तेल के रेट दोगुने हो रहे हैं जिससे गरीब की रसोई पर असर पड़ रहा है। स्टार गोल्ड रिफाइंड आॅयल 750 ग्राम का पैकेट को 1 लीटर के नाम पर बेचा जा रहा हैं जिसकी कीमत है 140 रुपए है। कल्याण रिफाइंड सोयाबीन आॅयल एवं मेरीगोल्ड रिफाइंड आॅयल 1 लीटर के पैकेट में 905 एवं 910 ग्राम निकल रहा है। इसकी कीमत है 140 से 160 रुपए। मुख्यमंत्री जी आपकी बहनों की रसोई पर बुरा असर पड़ रहा है एवं भांजा-भांजी रुखा सुखा खाकर गुजारा कर रहे हैं।

एक-एक पाव लेकर कर रहे हैं गुजारा

गोंडवाना समय संवाददाता ने जनपद पंचायत केवलारी की उप तहसील उगली की ग्रामीण महिलाओं से रसोई को लेकर चर्चा की वही ग्राम खामी की ग्रामीण महिलाओं से पूछताछ किया तो ग्रामीण महिलाओं ने बताया कि पहले हम 1 लीटर का पाउच खरीद कर काम चला लेते थे लेकिन अब 2 गुना कीमत होने से 1 लीटर का पाउच नहीं खरीद पा रहे हैं। अब हम नजदीकी दुकान से एक-एक पाव तेल खरीद कर अपना गुजारा कर रहे हैं। मुख्यमंत्री जी आप तो जनता की हितेषी है फिर कार्रवाई क्यों नहीं हो रही है? वहीं ग्रामीण महिलाओं का कहना है शासन-प्रशासन यदि इस गंभीर समस्या पर ध्यान दें तो ग्रामीणों को एवं प्रदेश की जनता काफी राहत मिलेगी।

No comments:

Post a Comment

Translate