Monday, March 15, 2021

आॅल इंडिया सैनिक स्कूल एंट्रेंस एग्जाम में लगन व कठिन मेहनत से उत्तीर्ण हुए दो भाई रूद्रेश व आयुष सल्लाम

आॅल इंडिया सैनिक स्कूल एंट्रेंस एग्जाम में लगन व कठिन मेहनत से उत्तीर्ण हुए दो भाई रूद्रेश व आयुष सल्लाम

पिता श्री बी के सल्लाम व माता श्रीमति वंदना सल्लाम ने दिया हमेशा लक्ष्य बनाकर अध्ययन करने की शिक्षा 


मोरेश्वर तुमराम प्रबंध संपादक
सिवनी। गोंडवाना समय।

जिला मुख्यालय सिवनी के रूद्रेश सल्लाम उम्र 14 वर्ष, आयुष सल्लाम उम्र 11 वर्ष पिता श्री बी के सल्लाम एडीएम पीडब्ल्यूडी संभाग क्र 1 व माता श्रीमति वंदना सल्लाम के सुपुत्र दोनो भाईयों ने आॅल इंडिया सैनिक स्कूल के वर्ष 2021 में हुए एंट्रेंस एग्जाम में लगन व कठिन मेहनत से अध्ययन करते हुये उत्तीर्ण किया है।


आॅल इंडिया सैनिक स्कूल का एंट्रेंस एग्जाम 7 फरवरी 2021 को हुआ था जिसका परीक्षाफल 12 मार्च 2021 को आया है।

इंट्रेंस एक्जाम में सिवनी जिले से कई विद्यार्थियों ने सैनिक स्कूल में एडमिशन के लिए आॅल इंडिया सैनिक स्कूल एंट्रेंस एक्जाम दिया था जिसका परीक्षा परिणाम 12 मार्च को आया जिसमें सिवनी मुख्यालय राजपूत कॉलोनी निवासी श्री बी के सल्लाम के दो सुपुत्र रूद्रेश सल्लाम और उनके छोटे भाई आयुष सल्लाम ने पहली बार में ही उत्तीर्ण कर लिया है।

फुफा है सेना में पदस्थ उन्होंने बताये सैनिक स्कूल लाभ 


दैनिक गोंडवाना समय से चर्चा करते हुये रूद्रेश सल्लाम ने बताया कि  बचपन से ही उनके माता-पिता द्वारा लक्ष्य र्निधारित कर पढ़ाई करने की शिक्षा दी गई ताकि वे अपने लक्ष्य को हासिल कर अपने सपनो को पूरा कर सके। आगे बताते हुए कहा कि मेरे फुफा जी श्री हरी भलावी जो कि सेना में पदस्थ है वे देश की सेवा में अपना कर्तव्य निभा रहे है, उनके द्वारा आर्मी स्कूल के एंट्रेंस एग्जाम की जानकारी दी गयी थी। इसके साथ ही उन्होंने आर्मी स्कूल के लाभ भी बताए।
        वहीं जैसे ही आर्मी स्कूल के एंट्रेंस एग्जाम की जानकारी मिली तो रूद्रेश और आयुष ने कोरोना के चलते ही बीते वर्ष लॉकडाउन में ही आॅल इंडिया सैनिक स्कूल के एंट्रेंस एग्जाम की तैयारी करने के लिये लगन व कड़ी मेहनत के साथ सोशल मीडिया व यू ट्यूब के माध्यम से करना प्रारंभ कर दिया था। इसके साथ ही परिचित के श्री निखिल पिल्ले बी टेक व श्री नितिन पिल्ले बी टेक सर से कोचिंग के माध्यम से मार्गदर्शन लेकर तैयारी करते हुये एग्जाम दिया।

नेशनल मस्तोगी डू चैम्पियनशिप में हासिल किया है गोल्ड मेडल


गोंडवाना समय से चर्चा करते हुये रूद्रेश सल्लाम ने आगे बताया कि खेल में उनकी रूची है। स्कूल में शैक्षणिक अध्ययन करने के साथ ही मार्शल आर्ट क्लासेस शूरू किया गया। संभाग स्तर में मार्शल आर्ट टूर्नामेंट में भाग लेकर टूर्नामेंट जीतने के बाद प्रदेश स्तर व राष्ट्रीय स्तर पर वर्ष 2015 में हुए इन इंडिया ताईकोंडो चैलेंज ट्राफी में ब्रांज मेडल प्राप्त किया था। इसके साथ ही वर्ष 2017 में हुए 13 नेश्नल मस्तोगी डू चैम्पियनशिप में गोल्ड मेडल हासिल किया।
            वहीं रूद्रेश सल्लाम व आयुष सल्लाम के माता-पिता ने बताया कि उनके द्वारा दोनों बच्चों का हमेशा होसला बढ़ाने का कार्य किया है। इसके साथ ही शुरू से ही लक्ष्य र्निधारित कर शैक्षणिक अध्ययन करने की शिक्षा भी दी गई है जिसके फलस्वरूप दोनो बेटों ने कठिन मेहनत व लगन से अध्ययन करते हुये आॅल इंडिया सैनिक स्कूल का एंट्रेंस एग्जाम पास किया। दोनो बच्चों की सफलता पर माता-पिता, परिवारजन, रिस्तेदार व मित्रों द्वारा रूद्रेश और आयुष के आॅल इंडिया सैनिक स्कूल का एंट्रेंस एग्जाम में उत्तीर्ण होने पर बधाई दी गयी व साथ ही दोनो भाईयों के उज्जवल भविष्य की कामना की गई है।

No comments:

Post a Comment

Translate