Friday, May 7, 2021

निष्ठा व लगन से ड्यूटी करने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी व परिजनों को नहीं मिल रहा उचित उपचार

निष्ठा व लगन से ड्यूटी करने के बाद भी स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी व परिजनों को नहीं मिल रहा उचित उपचार

सिवनी कलेक्टर, सांसद, विधायक को समस्याओं के साथ अवगत कराया अपना दर्द 

कोविड जांच, भर्ती हेतु बेड, सीटी स्केन, आॅक्सीजन हेतु अत्याधिक परेशानियों का कर रहे सामना 

कर्मचारियों ने कहा ऐसी स्थिति में घोर निराशा के साथ गिरता है मनोबल 


सिवनी। गोंडवाना समय। 

कोरोना महामारी की जंग में सरकार, शासन, प्रशासन ने भले फ्रंट लॉइन वर्कर बनाम कोरोना यौद्धा बनाकर लड़कर जीतने के लिये खड़ा कर दिया है। कोरोना से जंग स्वास्थ्य विभाग के चिकित्सकों के साथ सबसे अहम जिम्मेदारी स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों के द्वारा निभाया जा रहा है। कोरोना महामारी से संक्रमित होने वाले स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी व परिजनों को ही यदि समय पर एवं उचित उपचार न मिल पाये तो कोरोना यौद्धा की संज्ञा देकर नाम पर भर देना ठीक नहीं है।
      


 स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों व परिजनों के लिये कोविड-19 संक्रमित होने पर उन्हें विशेष रूप से प्राथमिकता के साथ में उपचार हेतु स्थान आरक्षित रखने के लिये व्यवस्था बनाई जाना चाहिये। यदि स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों व परिजनों के कोरोना संक्रमित होने पर समय पर उचित उपचार नहीं मिलेगा तो उनका मनोबल गिरने के साथ निराशा उत्पन्न सुनिश्चित है।
        ऐसे ही समस्याओं से जूझ रहे सिवनी जिले के स्वस्थ्य विभाग के कर्मचारी जिनमें एएनएम, एमपीडब्ल्यू, सपुरवाईजर, बीईई, मलेरिया निरीक्षक शामिल है उन्होंने कोविड-संक्रमित होने पर उचित स्वास्थ्य सुविधायें प्रदान करने की मांग को लेकर सिवनी कलेक्टर डॉ राहूल हरिदास फटिंग सहित, सीएमएचओ, सासंद व विधायक को भी न्यू बहुउद्देश्शीय स्वास्थ्य कर्मचारी संघ सिवनी के द्वारा अपनी समस्या के साथ ही इतनी सेवा कर्तव्य निभाने के बाद भी कोरोना संक्रमित होने के बाद उन्हें समुचित उपचार नही मिल पाने के दर्द से अवगत कराया है। 

कर्मचारी पूरी लगन एवं निष्ठा के साथ कर रहे ड्यूटी 

न्यू बहुउद्देश्शीय स्वास्थ्य कर्मचारी संघ सिवनी के द्वारा सिवनी कलेक्टर को लिखे गये पत्र में उल्लेख किया है कि वर्तमान समय में कोविड-19 संक्रमण पूरे देश व प्रदेश में फैल रहा है। ऐसी परिस्थिति में स्वास्थ्य विभाग का कर्मचारी जिनमें एएनएम, एमपीडब्ल्यू, सपुरवाईजर, बीईई, मलेरिया निरीक्षक दिन रात अपनी आवश्यक सेवायें, कोविड-टीकाकरण, कोविड कमाण्ड कंट्रोल रूम ड्यूटी, कोविड केयर सेंटर ड्यूटी एवं अन्य आवश्यक स्वास्थ्य सेवाओं में ड्यृटी पूरी लगन एवं निष्ठा की साथ की जा रही है। 

न उचित इलाज और न ही मिल रहे बैड 

न्यू बहुउद्देश्शीय स्वास्थ्य कर्मचारी संघ सिवनी के द्वारा सिवनी कलेक्टर को लिखे गये पत्र में आगे उल्लेख किया है कि वर्तमान में कोविड-19 के बढ़ते मामलो ंके बची बहुत से कर्मचारी एवं उनके परिजन भी कोविड पॉजिटिव हो रहे है। वहीं वर्तमान में मरीजों की संख्या अत्याधिक होने के कारण स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों एवं उनके परिजनों को उपचार एवं अत्याधिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। उनको न ही जिला चिकित्सालय में उचित इलाज मिल पा रहा है और न ही भर्ती करने हेतु बैड मिल पा रहे है। 

उचित व्यवहार नहीं करने, सीटी स्केन, आॅक्सीजन की समस्या से परेशान 

न्यू बहुउद्देश्शीय स्वास्थ्य कर्मचारी संघ सिवनी के द्वारा सिवनी कलेक्टर को लिखे गये पत्र में आगे यह भी उल्लेख किया गया है कि प्राया: देखने में आ रहा है कि ड्यूटीरत चिकित्सक भी विभागीय कर्मचारियों के साथ उचित व्यवहार नहीं कर पा रहे है। गंभीर अवस्था में भी भर्ती के समय कोविड जांच, भर्ती हेतु बेड, सीटी स्केन, आॅक्सीजन हेतु अत्याधिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है। 

कर्मचारियों के परिजनों का हो चुका है निधन 

न्यू बहुउद्देश्शीय स्वास्थ्य कर्मचारी संघ सिवनी के द्वारा सिवनी कलेक्टर को लिखे गये पत्र में आगे यह भी उल्लेख किया गया है कि कुछ कर्मचारियों के परिजनों का इन्हीं कारणों से निधन हो चुका है। वर्तमान में समस्त स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारी कोविड संक्रमण कार्य में पूरी निष्ठा एवं ईमानदारी से कार्य संपादित कर रहे है। ऐसी विषम परिस्थिति में यदि कर्मचारी या उनके परिजन को तत्काल स्वास्थ्य सेवायें नहीं मिलती है तो कर्मचारियों में घोर निराशा होती है एवं मनोबल गिरता है। 

जांच व उपचार में मिले विशेष प्राथमिकता 

न्यू बहुउद्देश्शीय स्वास्थ्य कर्मचारी संघ सिवनी के द्वारा सिवनी कलेक्टर को लिखे गये पत्र में आगे यह उल्लेख करते हुये कलेक्टर से अनुरोध किया गया है कि इस विषय पर सहानुभूतिपूर्वक विचार करते हुये स्वास्थ्य विभाग के कर्मचारियों एंव उनके परिजनों को प्राथमिकता से जांच एवं उपचार हेतु विशेष व्यवस्था बनाने हेतु कार्यवाही की जावे। 

No comments:

Post a Comment

Translate