Friday, December 24, 2021

पेसा कानून लागू करने के लिए नियमावली बनने के बाद समस्याओं का होगा समाधान-राज्यपाल

पेसा कानून लागू करने के लिए नियमावली बनने के बाद समस्याओं का होगा समाधान-राज्यपाल 

पांचवी अनुसूची के तहत क्षेत्रों में अवैध रेत उत्खनन बंद कर रेत उत्खनन ग्राम सभा को सौंपा जाए-गोंगपा 

राज्यपाल को गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के प्रतिनिधिमण्डल ने अपनी समस्याओं से संबंधित ज्ञापन सौंपा


रायपुर। गोंडवाना समय।

राज्यपाल सुश्री अनुसुईया उइके से राजभवन में गोंडवाना गणतंत्र पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष तुलेश्वर सिंह मरकाम, राष्ट्रीय महासचिव श्याम सिंह मरकाम व प्रदेश महासचिव श्री अजय चकोले के नेतृत्व में प्रितनिधिमण्डल ने मुलाकात की और ज्ञापन सौंपा।

आपकी जो भी समस्याएं हैं, उसे विभागवार विभाजित कर के दें


राज्यपाल ने उनकी समस्याओं के समाधान के लिए आश्वासन दिया। उन्होंने कहा कि आपकी जो भी समस्याएं हैं, उसे विभागवार विभाजित कर के दें। पेसा कानून लागू करने के लिए शासन द्वारा नियमावली बनाई जा रही है। इसके बनने के पश्चात कुछ समस्याओं का समाधान हो जाएगा। सुश्री उइके ने कहा कि आप अपनी समस्याओं को संबंधित क्षेत्र के जनप्रतिनिधियों के समक्ष भी रखें।

हसदेव अरण्य क्षेत्र में खनन हेतु प्रस्तावित भूमि को तत्काल निरस्त किया जाये

प्रतिनिधिमण्डल ने कहा कि हसदेव अरण्य क्षेत्र में खनन हेतु प्रस्तावित भूमि को तत्काल निरस्त कर उसे हाथी अभ्यारण्य क्षेत्र के लिए सुरक्षित रखा जाए। साथ ही कोरबा जिले के अन्तर्गत अंबिका ओपन काष्ट परियोजना के लिए जो भूमि आबंटित की गई है, वह राजकीय वृक्ष और वन औषधी युक्त है, उस पर पुन: विचार किया जाए। उन्होंने कहा कि इसी तरह गुरू घासीदास नेशनल पार्क जिसे टाईगर रिजर्व घोषित किया गया है, वहां पर विशेष पिछड़ी जनजाति निवास करती है। इस पर भी विचार किया जाए। साथ ही पांचवी अनुसूची के तहत क्षेत्रों में अवैध रेत उत्खनन बंद कर रेत उत्खनन ग्राम सभा को सौंपा जाए। प्रितनिधिमण्डल में राष्ट्रीय अध्यक्ष श्री तुलेश्वर मरकाम, श्री श्याम सिंह मरकाम, श्री संजय सिंह कमरो, श्री कुलदीप मरकाम, श्री प्रभु जगत, श्री फरीद कुरैशी, श्रीमती प्रिया शर्मा शामिल थे।

No comments:

Post a Comment

Translate