Sunday, April 24, 2022

पांडिया छपारा से घीसी रोड में इतने बड़े-बड़े गढ्ढे हो गए हैं कि रोड में गड्ढे हैं या गड्ढे में रोड है यह स्पष्ट करना नामुमकिन नजर आ रहा है

पांडिया छपारा से घीसी रोड में इतने बड़े-बड़े गढ्ढे हो गए हैं कि रोड में गड्ढे हैं या गड्ढे में रोड है यह स्पष्ट करना नामुमकिन नजर आ रहा है

पांडिया छपारा से घीसी मार्ग तक पक्की सड़क बनाने की जितेन्द्र जैतवार ने शासन प्रशासन से की मांग


अजय, संजय एवं सुरेश की रिपोर्ट
पांडिया छपारा। गोंडवाना समय।

पांडिया छपारा से घीसी मार्ग अपनी बदहाली, जनप्रतिनिधियों एवं ठेकेदारों के निकम्मेपन का जीता जागता सबूत आप सिवनी जिले के केवलारी विधानसभा के उपतहसील उगली के अंतर्गत ग्राम पांडिया छपारा से घीसी मार्ग पर देखने को मिल जाएगा। हालात इतने बदतर हो चुके हैं कि रोड पूरी तरह उखड़ गई है। जिसके कारण रोड में चलना तक दूभर हो गया है, रोड में इतने बड़े-बड़े गढ्ढे हो गए हैं कि रोड में गड्ढे हैं या गड्ढे में रोड है यह स्पष्ट करना नामुमकिन नजर आता है।

हैं कठिन कितना सफर ये रास्तों को क्या पता, कैसे-कैसे हम बचे हैं ये हादसों को क्या पता


गोंडवाना समय जनसुनवाई कार्यक्रम में पहुंचकर ग्राम उगदीवाड़ा के रहने वाले जितेन्द्र जैतवार ने कहा कि पांडिया छपारा से घीसी मार्ग पूरी तरह बदहाल हो चुका है। आए दिन इस सड़क पर हादसे होते रहते हैं फिर भी इस ओर कोई ध्यान नही दे रहा है। हम खुद रास्ते से सफर करते समय कैसे बचे हैं यह तो हम ही जानते हैं। उन्होंने आगे कहा है कठिन कितना सफर ये रास्तों को क्या पता, कैसे-कैसे हम बचे हैं ये हादसों को क्या पता।

रोड़ खोदकर काम अधूरा छोड़कर भाग गया ठेकेदार

जितेन्द्र जैतवार ने कहा कि पांडिया छपारा से घीसी मार्ग पर टकटुआ के आगे से होली के दिनों पहले कुछ किलोमीटर तक पक्की सड़क का निर्माण हुआ है। वही टकटुआ और उगदीवाड़ा के बीच लगभग 7 किलो मीटर की दूरी तक कि रोड़ खोदकर काम अधूरा छोड़कर ठेकेदार भाग गया है। होली के बाद से ठेकेदारों का कुछ पता ही नहीं चल रहा है, तो यह कहना गलत नहीं होगा कि होली खेलने में ही मग्न है पीडब्ल्यूडी के अधिकारी व ठेकेदार। आखिर इनकी होली कब तक खत्म होगी या अगले वर्ष की होली मनाकर ही सड़क का कार्य प्रारंभ करेंगे। 

No comments:

Post a Comment

Translate