Sunday, October 16, 2022

झाबुआ पॉवर प्लांट प्रबंधन के द्वारा वर्ष 2013 में दिये गये झूठा आश्वासन से आक्रोशित ग्रामीणों ने रोका निर्माण कार्य

झाबुआ पॉवर प्लांट प्रबंधन के द्वारा वर्ष 2013 में दिये गये झूठा आश्वासन से आक्रोशित ग्रामीणों ने रोका निर्माण कार्य 

ग्रामीणों की नाराजगी के बाद झाबुआ पॉवर प्लांट प्रबंधन के अधिकारी कर्मचारी समझाईश देकर मनाने में जुटे 


दीपक नरेती, ग्रामीण संवाददाता
बगदरी/घंसौर। गोंडवाना समय। 

झाबुआ पॉवर प्लांट प्रबंधन के द्वारा वर्ष 2013 में बगदरी ग्राम सहित अन्य ग्रामीणों को 12 सूत्रीय मांगों को पूरा करने के लिये दिये गये आश्वासन के बाद आज दिनांक तक एक भी मांगों को पूरा नहीं किये जाने से बगदरी ग्राम के ग्रामीणजनों ने नाराजगी व्यक्त कर आक्रोश जताकर विरोध दर्ज कराया है। वहीं झाबुआ पॉवर प्लांट के द्वारा विद्युत उत्पादन हेतु निर्मित पंप हाऊस तक आवागमन हेतु सड़क निर्माण कार्य को बगदरी ग्राम के ग्रामीणों के द्वारा बंद करवा दिया गया है। झाबुआ पॉवर प्लांट प्रबंधन के अधिकारी व कर्मचारीगण ग्रामीणों को समझाईश देकर किसी भी तरह मनाने की कोशिश में लगे हुये है। 

7 अक्टूबर 2022 को ही सार्वजनिक रूप से बैठक कर किया था सूचित


बगदरी ग्राम के ग्रामीणों से झाबुआ पॉवर प्लांट के प्रबंधन के द्वारा वर्ष 2013 में किये गये वायदा के बाद भी आज दिनांक तक मांगे पूरी नहीं होने पर बगदरी ग्राम के ग्रामीणों के द्वारा सामुहिक रूप से झाबुआ पॉवर प्लांट प्रबंधन की कार्यप्रणाली का विरोध दर्ज जताते हुये स्थानीय प्रशासन व झाबुआ पॉवर प्लांट प्रबंधन को दिनांक 7 अक्टूबर 2022 को ही सार्वजनिक रूप से बैठक का आयोजन कर लिखित में सूचित कर दिया गया था कि झाबुआ पॉवर प्लांट प्रबंधन द्वारा वर्ष 2013 में बगदरी ग्राम के ग्रामीणों से 12 बिंदुओं पर आधारित मांगों को पूरा करने का जो आश्वासन दिया गया था वह पूरा नहीं किया गया जो कि हमारे साथ धोखेबाजी झाबुआ पॉवर प्लांट प्रबंधन के द्वारा की गई है। 

जब तक मांग नहीं होगी पूरी नहीं करने देंगे कार्य

ग्रामीणों ने अपना विरोध दर्ज कराते हुये झाबुआ पॉवर प्लांट के लिये उपयोग होने वाले इंटकबेल पंप हाऊस निर्माण के लिये आवागमन हेतु सड़क निर्माण व उससे संबंधित अन्य निर्माण कार्यों को ग्रामीणों के द्वारा रोक दिया गया है, जिसके कारण झाबुआ पॉवर प्लांट प्रबंधन के द्वारा किये जा रहे निर्माण कार्य पर रोक लग जाने से प्रबंधन में हड़कंप मचा हुआ है। ग्रामीणों का कहना है कि जब तक हमारी 12 सूत्रिय मांग झाबुआ पॉवर प्लांट प्रबंधन के द्वारा पूरा नहीं किया जायेगा हम अब किसी तरह का कार्य नहीं करने देंगे। 


No comments:

Post a Comment

Translate